अमित शाह के कार्यक्रम के लिए पेड़ों की बलि

अमित शाह के कार्यक्रम के लिए पेड़ों की बलि
-टहनी के बजाय काट दिए वृक्ष
हुब्बल्ली

अमित शाह के कार्यक्रम के लिए पेड़ों की बलि
हुब्बल्ली
केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के १८ जनवरी को शहर के नेहरू स्टेडियम में होने वाले कार्यक्रम के लिए स्टेडियम के पेड़ों की टहनियां काटने के बजाय पेड़ ही काट देने का मामला सामने आया है।
एक ओर पर्यावरण की रक्षा, पेड़-पौधों को उगाने का केंद्र तथा राज्य सरकार लोगों से आह्वान कर रही है तो वहीं दूसरी ओर अमित शाह के कार्यक्रम के दौरान सुरक्षा की ओट में स्टेडियम में सात अशोक के पेड़ों की बलि ले ली गई।
पुलिस विभाग तथा महानगर निगम आयुक्त के इस पर्यावरण विरोधी कार्य के लिए आमजन के साथ ही केंद्रीय संसदीय मामलात मंत्री प्रहलाद जोशी ने भी नाराजगी व्यक्त की है।
हुब्बल्ली-धारवाड़ महानगर पुलिस आयुक्तालय के पुलिस अधिकारियों ने अमित शाह की सुरक्षा में बाधा बनने के मद्देनजर स्टेडियम के कोप्पिकर रोड से लगे गेट के पास स्थित एकाध पेड़ों की टहनियों को काटने के महानगर निगम को निर्देश दिए थे परन्तु महानगर निगम के अधिकारियों ने इसका फायदा उठाकर टहनियों को काटने के बजाए पेड़ों को ही कटवा दिया।

आरोप-प्रत्यारोप

केवल तीन-चार घंटे के अमित शाह के कार्यक्रम के लिए कई वर्षों से उगे पेडों को काटने पर केंद्रीय मंत्री प्रहलाद जोशी समेत आमजन के नाराजगी व्यक्त करते ही पुलिस तथा महानगर निगम के अधिकारियों ने एक दूसरे पर आरोप लगाकर जिम्मेदारी से बचने का प्रयास किया।
महानगर निगम अधिकारियों का कहना है कि वे पेड़ सुरक्षा में बाधा बन रहे थे इसलिए पुलिस अधिकारियों ने इन्हें हटाने को कहा था इसीलिए हमारे कर्मचारियों से कहकर पेड़ों का कटवाया है।
उधर, पुलिस अधिकारियों का कहना है कि हमने पेड़ों को काटने के लिए नहीं कहा था। सुरक्षा में बाधा बन रहे नीम के पेड़ की टहनियों को ही काटने को कहा था परन्तु नीम के पेड़ की टहनियों के साथ ही अशोक के सात पेड़ काट दिए गए।

दोषियों के खिलाफ करें कार्रवाई

पेड़ों के काटने की सूचना मिलने पर मौके पर पहुंचे केंद्रीय संसदीय मामलात, कोयला एवं खान मंत्री प्रहलाद जोशी ने पूछा कि क्या पेड़ों को काटने की जरूरत थी। पेड़ों को काटने का आदेश किसने दिया है। इसका कारण क्या है। इसे जानकर दोषी अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए। उन्होंने महानगर निगम आयुक्त डॉ. सुरेश इट्नाळ को फोन करके पेड़ों को काटने वालों के खिलाफ शिकायत दर्ज कर कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
गौरतलब है कि पूर्व में धारवाड़ में रेलवे स्टेशन के पास केवल एक पेड़ काटा जाने पर भाजपा नेताओं ने चिपको आंदोलन किया था।

Zakir Pattankudi
और पढ़े
खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned