शिकायत पर कार्रवाई नहीं करने से नाराज मुख्यमंत्री चंद्र बाबू नायडू, मुख्य चुनाव कार्यालय के सामने दिया धरना

मुख्यमंत्री नायडू ने कहा कि देश के 22 राजनीतिक दल ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठा रहे हैं...

By: Prateek

Published: 10 Apr 2019, 08:02 PM IST

(हैदराबाद): आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री एन.चंद्रबाबू नायडू ने भारतीय चुनाव आयोग से जनतंत्र को बचाने की अपील की। नायडू ने आंध्र प्रदेश के मुख्य चुनाव अधिकारी गोपाल कृष्ण द्विवेदी से आज मुलाकात कर ज्ञापन सौंपा। मुख्य चुनाव अधिकारी से मुलाकात के बाद चंद्रबाबू नायडू मुख्य चुनाव कार्यालय के सामने धरने पर बैठ गए और अपना विरोध दर्ज कराया। उन्होंने चुनाव अधिकारियों से धमकी भरे अंदाज में बात की।


नायडू को इस बात की नाराज़गी है कि राज्य चुनाव अधिकारियों ने उनकी पहले की कुछ शिकायतों पर कार्रवाई क्यों नहीं की? धरने के मौक़े पर नायडू ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि वे पहली बार मुख्य चुनाव अधिकारी से मिलने को मजबूर हुए हैं। उन्होंने अपने जीवन में अब तक मुख्य चुनाव अधिकारी से मुलाकात नहीं की थी। मुख्यमंत्री नायडू ने कहा कि देश के 22 राजनीतिक दल ईवीएम की विश्वसनीयता पर सवाल उठा रहे हैं। हम ने बैलट पेपर और गिनती के लिए कम से कम 50 प्रतिशत वीवीपैट पर्चियों को फिर से अमल में लाने की मांग की है। यहां तक कि हम न्यायालय भी गए। भारतीय चुनाव आयोग ने गलत जानकारी दी कि वीवीपैट की पर्चियों को गिनने में 6 दिन लगते हैं। अगर ऐसा होता, तो जब बैलट पेपर का इस्तेमाल किया जाता था तब एक दिन में परिणाम कैसे निकलते थे?

 

Show More
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned