फर्जी दस्तावेजों से लोन लेकर बैंक को लगाया करोड़ों का चूना,फ्रॉड गैंग के 10 लोग गिरफ्तार

फर्जी दस्तावेजों से लोन लेकर बैंक को लगाया करोड़ों का चूना,फ्रॉड गैंग के 10 लोग गिरफ्तार

Prateek Saini | Publish: Aug, 19 2018 07:32:02 PM (IST) Hyderabad, Telangana, India

रचाकोंडा की अब्दुल्लापुरमेट पुलिस ने 50 आरोपियों की पहचान की, जिसमें से 10 को गिरफ्तार कर लिया गया है...

(पत्रिका ब्यूरो,हैदराबाद): दुनिया में ठगी के भी एक से एक तरीके सुनाई दे सकत है। ये शातिर ठग किसी को भी अपने जाल में बढी आसानी से फांस लेते है और बढी रकम ऐठ लेते है। यहां भी एक ऐसा ही मामला सामने आया है जहां ठगों ने अपनी चतुरता का गलत दिशा में उपयोग करते हुए ठगी की बड़ी वारदात को अंजाम दिया है। हैदराबाद महानगर में फ़र्ज़ी दस्तावेज़ों के आधार पर लोन लेने वाले गिरोह का भंडाफोड़ किया गया। रचाकोंडा की अब्दुल्लापुरमेट पुलिस ने 50 आरोपियों की पहचान की, जिसमें से 10 को गिरफ्तार कर लिया गया है। सभी ने मिलकर करोड़ों का लोन जारी करवाते हुए बैंकों को चूना लगाया।


आयुक्त महेश भागवत ने बताया कि हयातनगर में रहने वाले संजीवा रेड्डी की भूमि के नाम पर अज्ञात लोगों ने लोन जारी करवा लिया था । रेड्डी को पता लगने पर उसने मामले की पुलिस से शिकायत कर दी । पुलिस ने मामले की जांच करते हुए एर्रागड्डा में रहने वाले एम.श्रीनिवास रेड्डी (46), दिलसुखनगर के डीआरडीओ कर्मचारी के.गोपालकृष्णा (47), उप्पल के सेवानिवृत्त आरटीसी कर्मचारी एम.जॉन विनोद (73), उप्पल के मोहम्मद शफी (64), नचाराम के के.विश्वनाथम (53), जी. जगन राव (64), अम्बरपेट के के.वेंकटराम रेड्डी (36), हयातनगर में रहने वाले सेवानिवृत्त सब-रजिस्ट्रार जे.गंगा राम (63) व वी.अशोक (49) को गिरफ्तार कर लिया, जबकि 40 अन्य फरार हैं ।


उन्होंने बताया कि श्रीनिवास रेड्डी काफ़ी कुख्यात ठग है । उसके ख़िलाफ़ सीबीआई कोर्ट में भी मामला चल रहा है । उन्होंने बताया कि गिरोह के सदस्यों को लोन जारी करवाने की कार्यपद्धति के संबंध में अच्छी-खासी जानकारी थी । इसी का वे गलत फ़ायदा उठा रहे थे । आरोपियों के पास से स्टाम्प पेपर, सील, फ़र्ज़ी पहचान पत्र, गिफ्ट डीड इत्यादि सामग्री बरामद की गई है ।

 


यह भी पढे: जानें अटल जी के निधन पर हंसते हुए पीएम मोदी की फोटो की सच्चाई, एम्स के डॉक्टर ने उठाया पर्दा

Ad Block is Banned