9 अप्रवासी श्रमिकों की मौत के मामले में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने जानकारी मांगी

(Telangana News ) तेलंगाना के वरंगल जिले में कुए में नौ अप्रवासी ( Mystery of Labours death ) लोगों की मौत के रहस्यमय मामले में केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने ( Central home ninistry intervene ) दखल दिया है। गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से इस मामले का विवरण तलब किया है। गौरतलब है कि वरंगल पुलिस ने गीरुकोंडा मंडल में एक कुए से लोगों अप्रवासी श्रमिकों के शव बरामद किए थे।

हैदराबाद : (Telangana News ) तेलंगाना के वरंगल जिले में कुए में नौ अप्रवासी ( Mystery of Labours death ) लोगों की मौत के रहस्यमय मामले में केन्द्रीय गृह मंत्रालय ने ( Central home ninistry intervene ) दखल दिया है। गृह मंत्रालय ने राज्य सरकार से इस मामले का विवरण तलब किया है। गौरतलब है कि वरंगल पुलिस ने गीरुकोंडा मंडल में एक कुए से लोगों अप्रवासी श्रमिकों के शव बरामद किए थे।

केंद्रीय गुप्तचर दल ने किया मुआयना
इस मामले में केंद्रीय गुप्तचर विभाग के पुलिस अधीक्षक और दो निरीक्षकों ने घटनास्थल का मौका-मुआयना किया। स्थानीय पुलिस ने सभी शवों का पोस्टमार्टम कराया। पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में बताया गया है कि कुएं में गिरने से पहले सभी लोग जीवित थे। स्थानीय पुलिस इस मामले में तीन संदिग्धों को लेकर पूछताछ शुरु की है। इनमें मृतका बुत्रि खातनू का प्रेमी याकूब और दो बिहार के प्रवासी संजय कुमार और मंकुशा श्रमिक हैं।

पुलिस खंगाल रही कॉल डिटेल
पुलिस याकूब और मृतका के मोबाइल की कॉल डिटेल की जानकारी कर रही है। विशेष जांच दल ने दो ओर मोबाइल फोन बरामद किए हैं। इन फोनों की भी कॉल डिटले निकलवाई जा रही है। पुलिस दल ने वापस गोरेकुर्टा स्थित कुए का फिर से निरीक्षण किया है। मौके पर पुलिस संजय कुमार व मंकुश को घटनास्थल पर ले गई और पूछताछ की। पुलिस मृतका बुत्री खातून और उसके प्रेमी याकूब के अलावा अन्य लोगों की कॉल डिटेल की गहरी छानबीन कर रही है। अभी तक सात अन्य मृतकों के मोबाइल फोन पुलिस को नहीं मिले हैं। पुलिस इनकी भी तलाश कर रही है। राज्य के गृहमंत्री महमूद अली ने वरंगल के पुलिस आयुक्त रविन्द्र से इस वारदात को लेकर फोन पर जानकारी हासिल की। गृहमंत्री ने शीघ्र मामले का खुलासा करने के निर्देश दिए हैं।

मृतकों के रिश्तेदार आएंगे पश्चिमी बंगाल से
पोस्टामर्टम के बाद सभी शवों का अंतिम संस्कार किया जाना था किन्तु पुलिस को सूचना मिली कि मृतकों के रिश्तेदार पश्चिम बंगाल से आ रहे हैं। इस पर पुलिस ने सभी शवों को मुर्दाघर में सुरक्षित रखवा दिया है। दूसरी ओर शनिवार को शवों का अंतिम संस्कार किया जाना था। मगर इसी बीच पश्चिम बंगाल से मकसूद के रिश्तेदारों की आने की खबर मिली। इसके चलते शवों को माचज़्री में सुरक्षित रख दिया गया। कहा जा रहा है कि जब तक मामला एक अंजाम तक नहीं पहुंचेगा तब तक शवों को सुरक्षित रखा जाएगा।

Show More
Yogendra Yogi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned