इलेक्ट्रिक व्हीकल को मिलेगा बढ़ावा, शहर में बनाएं जाएंगे 119 चार्जिंग स्टेशन बनाएंगे

दिवाली से पहले आएंगी 50 सीएनजी सिटी बसें....

By: Ashtha Awasthi

Updated: 14 Oct 2021, 04:40 PM IST

इंदौर। शहर में लोक परिवहन की चरमरा रही व्यवस्था को ठीक किया जाएगा। दरअसल क्लीन एयर एवं ग्रीन मोबेलिटी के लिए पब्लिक बाइसिकल शेयरिंग सेवा जल्द शुरू की जाएगी। कोरोना के कारण पिछड़े विस्तार प्रोजेक्ट को गति दी जा रही है। ग्रीन परिवहन के लिए इलेक्ट्रिक व्हीकल को बढ़ावा देने के लिए शहर में 119 चार्जिंग स्टेशन बनाएंगे। इसमें 46 को लेकर प्रक्रिया शुरू हो चुकी है। 650 नई सिटी बसें खरीदने की प्रक्रिया शुरू की है।

जल्द पुरानी बसों को हटाया जाएगा और तय नए रूट्स पर भी सिटी बस सुविधा शुरू होगी यह जानकारी सिटी बस कार्यालय में एआइसीटीएसएल की समीक्षा बैठक में दी गई । निगमायुक्त प्रतिभा पाल के कहा, अब संक्रमण की आशंका कम है। लोक परिवहन का सुचारू संचालन किया जाए। दो साल में शहर का विस्तार हो गया है, बायपास व रिंग रोड के आसपास रहवासी क्षेत्र सघन होते जा रहे है। इन क्षेत्रों में विस्तार जरूरी है। 650 बसें खरीदी जानी है। 50 सीएनजी बसें दिवाली से पहले आने की उम्मीद है। इलेक्ट्रिक व्हीकल चार्जिंग स्टेशन के लिए रील व एनटीपीसी के साथ अनुबंध हो चुका है। 46 स्टेशन रील व एनटीपीसी बनाएगी और 73 एआइसीटीएसएल बनाएगी।

वहीं राजधानी भोपाल में बढ़ते प्रदूषण को देखते हुए 15 साल पूरे कर चुके डीजल वाहनों को सड़कों से हटाया जाएगा। इस संबंध में संभागायुक्त कवींद्र कियावत ने अधिकारियों को निर्देश दिए हैं। संभागायुक्त कार्यालय में हुई बैठक में उन्होंने कहा कि प्रशासन और परिवहन विभाग जिले के सभी पेट्रोल पम्प एवं सर्विस सेंटर्स में पीयूसी सेंटर की स्थापना कराएं। वाहन प्रदूषण एवं पीयूसी की नियमित जांच कर ई - रिक्शा के चलन को बढ़ावा दिया जाए।

संभागायुक्त ने व्हीकल फिटनेस की मॉनीटरिंग, पीयूसी मापन उपकरणों की समय समय पर जांच और नये इलेक्ट्रिक व्हीकल एवं सीएनजी व्हीकल को प्रोत्साहित करने पर जोर दिया। घरों, ढाबा, रेस्टोरेंट, नाश्ता सेंटर्स इत्यादि पर क्लीनर फ्यूल का उपयोग करने ट्रेनिंग देने के लिए कहा।

Ashtha Awasthi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned