शहर में मिले डेंगू के 15 नए मरीज, इनमें 9 महिलाएं

स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों में सिर्फ 14 मरीज ही सक्रिय, हकीकत : अस्पतालों में नहीं मिल रहे बैड

इंदौर.

शहर में डेंगू वायरल के कारण दिनोंदिन स्थिति विकराल होती जा रही है। गुरुवार को 15 और मरीजों में डेंगू की पुष्टि हुई जिनमें 9 महिलाएं शामिल है। इन्हें मिलाकर इस साल अब तक 637 मरीजों में डेंगू की पुष्टि हो चुकी है। स्वास्थ्य विभाग के आंकड़े सिर्फ 14 मरीज सक्रिय होने की बात कह रहे है जिनमें सिर्फ 10 का इलाज अस्पतालों में चल रहा है। लेकिन, अस्पतालों की स्थिति हकीकत बयां कर रही है। ज्यादातर निजी अस्पतालों में डेंगू के इतने मरीज भर्ती है कि वहां नए मरीजों को भर्ती होने के लिए भी इंतजार करना पड़ रहा है। कई गंभीर मरीज बैड नहीं मिलने के कारण घर पर ही इलाज कराने को मजबूर है। जिला मलेरिया अधिकारी डॉ.दौलत पटेल ने बताया, टीमें लगातार अलग-अलग इलाकों में जाकर सर्वे कर दवाईयों का छिडक़ाव कर रही है। गुरुवार को जो नए मरीज मिले वे गंगा नगर, श्रीयंत्र नगर, सुभाष नगर, सुंदर नगर एक्सटेंशन, शुभम पैलेस, स्कीम नंबर 78, श्रीराम नगर (धार नाका), कृष्णबाग, साउथ तुकोगंज, गुमाश्ता नगर, ओल्ड अग्रवाल नगर, डायमंड कॉलोनी और जानकी नगर निवासी है।
दो से तीन सप्ताह में कमजोर पड़ेगा डेंगू

डॉ.पटेल के अनुसार मानसून की विदाई के कुछ दिनों तक ही लार्वा पनप सकता है। अभी मौसम में बदलाव होने लगा है। इसी वजह से बीते कुछ दिनों से नए मरीजों की संख्या में थोड़ी कमी देखने को मिल रही है। हर साल दिवाली तक ही डेंगू के केस देखने को मिलते है। इस बार मरीजों की संख्या भले ही ज्यादा रही है लेकिन, तुलनात्मक रूप से यह हर साल जितना भयावह नहीं रहा। दो से तीन सप्ताह में डेंगू का असर करीब-करीब खत्म होने की उम्मीद है।

अभिषेक वर्मा
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned