10 दिन में चलने लगेंगीं 40 इलेक्ट्रिक बसें

10 दिन में चलने लगेंगीं 40 इलेक्ट्रिक बसें

Reena Sharma | Updated: 08 Aug 2019, 12:06:40 PM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

सात महीने से अटकी पड़ी है योजना

इंदौर. शहर में चलने वाली इलेक्ट्रिक बसों को लेकर नगर निगम दिन ही गिनवा रहा है। अब 10 दिन में पूरी 40 बसें चलाने का दावा निगम कर रहा है, जबकि योजना पिछले सात महीने से अटकी हुई है।

लोक परिवहन की सुविधा को बढ़ाने की दिशा में अटल इंदौर सिटी ट्रांसपोर्ट सर्विसेस लिमिटेड (एआईसीटीएसएल) ने शहर में 40 इलेक्ट्रिक बसें चलाने की योजना बनाई। इस पर अमल करते हुए अभी एक बस लाई गई है, जो बंगाली चौराहा से राजबाड़ा तक चल रही है। बाकी 39 बसों का शहर में आने के बावजूद अभी तक सडक़ पर नहीं उतरी हैं, जबकि इनका ट्रायल पूरा हो गया है।

इलेक्ट्रिक बसें आने के बावजूद अभी तक शहर में न चलने पर जब निगम के जिम्मेदार अपर आयुक्त संदीप सोनी से सवाल किए गए, तो उन्होंने जवाब में 10 दिनों में सभी 40 बसें चलाने का दावा किया है। उनका कहना है कि निगम को सभी बसें मिल गईं हैं। ट्रायल भी हो चुका है। इन्हें चलाने की तैयारी है। मालूम हो कि शहर में इलेक्ट्रिक बसें चलाने को लेकर रूट तय करने के साथ बसें चलाने की योजना पिछले सात महीने से चल रही है। अब देखना है कि निगम का 10 दिनों में बस चलाने का दावा पूरा होता है या नहीं।

चार्जिंग स्टेशन का काम भी अधूरा

अभी चल रही एक इलेक्ट्रिक बस को सिटी बस ऑफिस में बने चार्जिंग स्टेशन पर चार्ज किया जा रहा है, क्योंकि यहां 10 बसें चार्ज करने का स्टेशन बना हुआ है। 40 बसों को चार्ज करने के लिए राजीव गांधी प्रतिमा चौराहा के पास बने डिपो में चार्जिंग स्टेशन बनाया जा रहा है। इसका काम लंबे समय से चल रहा है, जो अभी तक पूरा नहीं हुआ। मामले में एआईसीटीएसएल के अफसरों का कहना है कि इस चार्जिंग स्टेशन का काम जल्द पूरा कर लिया जाएगा। स्ट्रक्चर खड़ा हो गया है। बसें चार्ज करने के लिए 33 केवी की बिजली सप्लाय ली जा रही है। ग्रिड तैयार है।

ये रूट किए तय

अभी प्रायोगिक तौर पर एक इलेक्ट्रिक बस को बंगाली चौराहा से राजबाड़ा तक चलाया जा रहा है, लेकिन बसों के लिए शहर के पांच मार्ग अलग से तय किए गए हैं। इनमें रेलवे स्टेशन से एयरपोर्ट, मालवा मिल से चंदन नगर, गंगवाल बस स्टैंड से खजराना मंदिर, तीन इमली से चाणक्यपुरी और हवा बंगला से बाणेश्वर कुंड शामिल है। हालांकि प्रदेश में इलेक्ट्रिक बस चलाने वाला इंदौर पहला शहर है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned