पानी में सड़ गया 400 क्विंटल अनाज, गोदाम खोलते ही व्यापारियों ने माथा पकड़ा

शहर में हुई झमाझम बारिश से अनाड मंडी में घुसा पानी, अनाज बर्बाद होने से व्यापारी दुखी

इंदौर. शनिवार और रविवार को शहर में हुई झमाझम बारिश ने एक ओर तो लोगों को गर्मी से राहत दी तो दूसरी ओर अनाज व्यापारियों के लिए बड़ी परेशानी खड़ी कर दी। छावनी अनाज मंडी के व्यापारियों ने दो दिन अवकाश के बाद जब सोमवार को गोदाम खोला तो अंदर का नजारा देख उन्होंने अपना माथा पकड़ लिया। दरअसल बारिश का पानी गोदाम के अंदर भरने से 400 क्विंटल अनाज बर्बाद हो चुका था।

MUST READ : मप्र कांग्रेस अध्यक्ष बनने की दौड़ में सबसे आगे ये दो मंत्री, इसी हफ्ते हो सकती है घोषणा

बारिश के कारण बारिश का पानी गोदाम में जमा हो गया। जिसके चलते गोदामों में रखा हुआ डॉलर चना, देसी चना और गेहूं का लगभग 400 क्विंटल माल खराब हो गया। इसमें व्यापारी एसोसिएशन द्वारा लाखों रुपए का नुकसान होना बताया जा रहा है।

MUST READ : बर्बाद हो रहे हजारों लीटर पानी को बचाने के लिए रेलवे उठाएगा ये कदम

11 व्यापारियों के बने है गोदाम

छावनी अनाज मंडी में पीछे की तरफ व्यापारियों के गोदाम बने हुए हैं। इसमें दीवार के किनारे कुल 11 व्यापारियों के गोदाम बने हैं। इनमें बड़ी मात्रा में अनाज भरा हुआ था। दो दिन तक गोदाम बंद रहे और इस दौरान शहर में अच्छी बारिश भी हो गई। इसके कारण गोदामों के पीछे से जाने वाला नाला भर गया। मंडी के व्यापारियों श्यामलाल हबलानी, रवि चौरडि?ा, पारस जैन और योगेश अग्रवाल ने बताया कि उस नाले में कचरा जमा होने के कारण पानी आगे नहीं जा पाया। ऐसे में वह पानी गोदामों में पीछे के दरवाजों व दीवारों की दरारों में से घुस गया।

MUST READ : भगवान भोलेनाथ की शरण में पहुंचे कैलाश और आकाश, आधे घंटे तक गाए भजन

मोटर के जरिए निकाला पानी

सोमवार सुबह मंडी में व्यापारी अपने गोदाम चंद्रा ट्रेडिंग कंपनी, पीपी ट्रेडर्स, फ्रेंड्स इंटरप्राइजेस, भवि ट्रेडिंग कंपनी, आकाश इंटरप्राइजेस, मोनिका ट्रेडर्स और स्काय फूड आदि पर पहुंचे तो गोदामों में पानी भरा हुआ था और अनाज उसके कारण भीग चुका था। ऐसे में 1 से 11 नंबर गोदामों में पानी भरने से लगभग 400 क्विंटल माल खराब हो गया। व्यापारियों ने बताया कि गोदामों में पानी इतना ज्यादा भर गया था कि उस निकालने के लिए पानी की मोटर लगानी पड़ी। लगभग दो से तीन घंटे की मशक्कत के बाद गोदामों से पानी को बाहर किया जा सका। हालांकि इसमें व्यापारियों को लाखों रुपए का नुकसान हो गया है।

MUST READ : 'याद रखें, बचपन लौटकर नहीं आएगा, बच्चे कुछ कहने में संकोच करें तो समझें कोई दिक्कत है'

गाद जमा होने से हुआ नुकसान

मंडी में बने गोदामों के पीछे से जा रहे नाले में गाद जमा है जिसके कारण पानी गोदामों में भर गया। मंडी के कुल 11 गोदामों का 400 क्विंटल अनाज खराब हो गया।

संजय अग्रवाल, अध्यक्ष, इंदौर अनाज तिलहन व्यापारी संघ

 

रीना शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned