अपना स्कूल बचाने हाई कोर्ट पहुंचे 900 बच्चे

अपना स्कूल बचाने हाई कोर्ट पहुंचे 900 बच्चे

Arjun Richhariya | Publish: Dec, 07 2017 11:52:22 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

मामला रेडिमेड कॉम्प्लेक्स के विंसेंट पलोटी स्कूल का, कोर्ट ने १४ दिसंबर तक रास्ता बंद करने के फैसले पर रोक लगाई

इंदौर. शिक्षा के लिए स्कूल जाना कितना महत्वपूर्ण है यह तो हम सब जानते ही हैं साथ ही बच्चे स्कूल जानें से कितना कतराते हैं। पर इस बार कुछ अलग ही हुआ है। सरकार ने बच्चों के स्कूल जाने पर रोक लगानी चाही परंतु बच्चे हाई कोर्ट तक पहुंच गए । 900 स्कूली बच्चों ने हाई कोर्ट को पत्र लिखकर मनुहार की है कि उनके स्कूल का रास्ता बंद नहीं किया जाए। कोर्ट ने 14 दिसंबर तक रास्ता बंद करने की कार्रवाई पर रोक लगा दी है।

यह है मामला
दरअसल, गौरी नगर क्षेत्र स्थित इलेक्ट्रॉनिक कॉम्प्लेक्स के पीछे बने विंसेंट पलोटी हायर सेकंडरी स्कूल के प्रवेश रास्ते पर औद्योगिक केंद्र विकास निगम (एकेवीएन) गेट लगाकर बाउंड्रीवॉल बनाने की तैयारी में है। इसके खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की गई है। याचिका पर बुधवार को सुनवाई हुई। जस्टिस पीके जायसवाल की एकल पीठ के समक्ष विंसेंट स्कूल के ९०० बच्चों द्वारा रास्ता बंद करने के विरोध में लिखे पत्र पेश किए गए।
बच्चों का कहना है, इलेक्ट्रॉनिक कॉम्प्लेक्स की ओर से यदि स्कूल का रास्ता बंद कर दिया जाएगा तो उन्हें घूमकर स्कूल जाना होगा। इससे उन्हें परेशानी होगी। कोर्ट ने रास्ता बंद करने की कार्रवाई पर रोक जारी रखते हुए १४ दिसंबर को अगली सुनवाई के आदेश दिए हैं।

दोनों पक्षों के तर्क
स्कूल संचालक एवं पैरेंट्स एवं टीचर्स एसोसिएशन की ओर से यह याचिका दायर की गई है। एडवोकेट अभिनव धनोदकर ने बताया, हमने तर्क रखा कि स्कूल में प्रवेश करने के लिए १३ साल से इस रास्ते का इस्तेमाल किया जा रहा है। एकेवीएन की ओर से तर्क रखे गए कि यह प्राइवेट कॉम्प्लेक्स की सडक़ है, इसलिए इसे बंद करने का हमें अधिकार है। स्कूल संचालकों का कहना है, स्कूल पहुंचने के दो अन्य रास्ते हैं, लेकिन वे छोटे हैं और वहां से बसें नहीं गुजर सकती हैं।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned