बीसीए के पेपर में एक सवाल मिसप्रिंट होने की बात स्वीकारी, अब पूरे अंक देने की सिफारिश

छठे सेमेस्टर के परीक्षार्थियों ने तीन सवालों में गड़बड़ी का दिया था आवेदन

By: रीना शर्मा

Published: 13 May 2019, 01:34 PM IST

इंदौर. देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी की बीसीए छठे सेमेस्टर की परीक्षा के एक पेपर में अधूरे और गलत सवाल पूछे जाने के मामले में परीक्षा समिति की रिपोर्ट तैयार हो गई है। समिति ने एक सवाल में मिसप्रिंट की बात स्वीकारते हुए इसके पूरे अंक देने की सिफारिश की है। सवाल हल करने की कोशिश करने वालों को इसका लाभ दिया जाएगा।

छठे सेमेस्टर के सभी पेपर होने के बाद परीक्षार्थियों ने कम्प्यूटर ओरिएंटेड एंड न्यूमरिक विषय के पेपर में तीन सवाल के सिलैबस से बाहर होने की शिकायत की थी। छात्रनेता अभिजीत पांडे के साथ परीक्षा नियंत्रक प्रो. अशेष तिवारी को प्रश्नपत्र के साथ लिखित आपत्ति दर्ज कराई गई। इस शिकायत पर यूनिवर्सिटी ने परीक्षा समिति को जिम्मेदारी दी थी। प्रश्नपत्र और सिलैबस का मिलान करने के बाद समिति ने पाया एक सवाल में मिसप्रिंट के कारण परीक्षार्थी सही जवाब नहीं दे सके। समिति ने बाकी के दो सवाल सिलैबस से ही पूछे जाने की जानकारी दी। रिपोर्ट के आधार पर यूनिवर्सिटी ने उन सभी परीक्षार्थियों को एक सवाल के पूरे अंक देने की सहमति दे दी जिसमें मिसप्रिंट हुई है। परीक्षा नियंत्रक प्रो. अशेष तिवारी ने बताया, मिसप्रिंट वाले सवाल को हल करने की कोशिश करने वालों को 10-10 अंक दिए जाएंगे।

रीना शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned