तेज रफ्तार यात्री बस के गेट से गिरे बुजुर्ग, गंभीर चोट से मौत

देपालपुर थाना क्षेत्र का मामला, परिजन का आरोप नियमों के विरूध्द ठसाठस यात्री भरने से हुआ एक्सीडेंट

 

By: Krishnapal Singh

Published: 01 May 2019, 08:26 AM IST

तेज रफ्तार उपनगरीय बस के गेट से दो सप्ताह पूर्व गिरे बुजुर्ग ने सोमवार रात उपचार के दौरान दम तोड़ दिया। घटना से आहत परिजनों ने सवारी बैठाने की होड़ व ओवरलोडिंग की वजह से पिता की जान चले जाने का आरोप लगाया है। उन्होंने इस संबंध में लापरवाह बस चालक -कंडक्टर के खिलाफ थाने में शिकायत की है।

पुलिस के मुताबिक अब्बास (55) पिता इदा शाह निवासी आलापुरा, इंदौर की एमवाय में उपचार के दौरान मौत हुई है। मंगलवार को पीएम कराने पहुंचे बेटे आबिद शाह ने घटना की जानकारी दी। 17 अप्रैल को ड्यूटी खत्म कर मिलन ट्रेवल्स की बस में सवार होकर इंदौर के लिए निकले। आरोप है रास्ते में बस चालक व कंडक्टर ने बस में अधिक संख्या में सवारी बैठा ली। उसमें बैठने तक की जगह नहीं थी। ठसाठस भरी बस में सवार पिता घबराहट की वजह से दरवाजे की तरफ पहुंचे। दोपहर करीब ढ़ाई बजे स्पीड में चल रही बस से उन्हें यात्रियों का धक्का लगा। जिससे वे गेट से सीधे रोड पर गिर गए। सिर में गंभीर चोट आने के साथ उनके नाक व कान से खून बहने लगा। लोगों ने उन्हें 108 एेंबुलेंस से एमवाय उपचार के लिए पहुंचाया। सिर में गंभीर चोट पहुंचने से उन्हें घटनादिनांक से होश नहीं आया। आरोप है सवारी बैठाने की होड़ में बस स्टाफ ने घटना दिनांक को ठसाठस सवारी भरी थी, जिसकी वजह से उनके पिता की जान चली गई। परिवार ने इस संबंध में देपालपुरा थाने में शिकायत भी की, लेकिन आज दिनांक तक देपालपुर-इंदौर रू ट पर ओवरलोड बस दौड़ रही है। उनकी मांग है की इस ओर यातायात विभाग भी ध्यान दें ताकि भविष्य में फिर एेसी कोई घटना में किसी की जान नहीं जाए। मृतक बस एजेंटी काम करते थे। परिवार में उनके बेटे आबिद, शाजिद व बहन अलबा है। तीनों की शादी हो चुकी है।

Krishnapal Singh
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned