दो कारों की भीषण टक्कर, रेलवे के टिकट क्लर्क सहित परिवार के चार लोगों की दर्दनाक मौत

सारंगपुर के पास की घटना, इलाके से एक साथ निकले चार शव

By: हुसैन अली

Published: 23 Jun 2020, 12:43 PM IST

इंदौर. उत्तरप्रदेश से लौट रहे भागीरथपुरा के चार लोगों की सारंगपुर के पास सडक़ हादसे में मौत हो गई। इनके साथ कार में मौजूद 14 साल का बच्चा गंभीर रूप से घायल है। भागीरथपुरा से एक साथ चार शवयात्रा निकली तो माहौल गमगीन हो गया। सांरगपुर के पास गोपालपुरा फोरलेन बायपास पर सोमवार सुबह 5.45 बजे दो कारों के बीच जोरदार भिड़त हो गई। एक कार में भागीरथपुरा निवासी अमरसिंह यादव (60), पत्नी सियादुलारी (57), इकलौता बेटा शैलेष (40), रिश्तेदार सुशील यादव (26) की मौत हो गई। शैलेष का बेटा मोहित (14) गंभीर रूप से घायल है। उसका इंदौर के निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। अमरसिंह लक्ष्मीबाई रेलवे स्टेशन पर टिकट क्लर्क थे। मूल रूप से वे कानपुर के ग्राम लोरी के रहने वाले थे। वही से लौटते समय हादसा हुआ। शैलेष निजी कंपनी में काम करता था। घर से आधा किलोमीटर दूरी पर रहने वाले परिवार में शैलेष की शादी हुई थी। उनके साथ शैलेष का की पत्नी का भाई सुशील भी गया था। वह पढ़ाई कर रहा था। परिवार के लोग उसकी शादी के लिए लडक़ी देख रहे थे। सुशील के परिवार में माता-पिता, दों बहने व एक भाई है।

घटना की जानकारी मिलने पर इंदौर से रिश्तेदार सांरगपुर पहुंचे। पोस्टमॉर्टम के बाद चारों शव को इंदौर लाया गया। शैलेष की पत्नी कविता इंदौर में ही थी। उसे हादसे की जानकारी नहीं दी गई। जब पति व सास-ससुर के शव घर पहुंचे तो वे बेसुध हो गई। बार-बार वह बेटे के बारें में पूछ रही थी। वही भाई की मौत की जानकारी पर तो वह जोर-जोर से रोने लगी। एक हादसे में पूरा परिवार खत्म हो गया। सोमवार शाम अमरसिंह, पत्नी सियादुलारी, शैलेष की शवयात्रा निकली। उसी समय कुछ दूरी से सुशील की शवयात्रा निकली।

महंत सोमेश्वर गिरी की हुई मौत

वहीं दूसरी कार में सवार औरंगाबाद के पंच दशनाम जूना अखाड़ा के महंत सोमेश्वर गिरी महाराज (65) की मौत हो गई, जबकि अनंत गिरि (46), अभिषेक कदम (20), कैलाश चोपड़े (14), कार ड्राइवर सार्थक बाघ (22) निवासी औरंगाबाद घायल हुए। वे लखनऊ जा रहे थे।

सीएम ने किया ट्वीट

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर घटना पर दु:ख व्यक्त किया। उन्होंने लिखा, राजगढ़ के सारंगपुर में कई अमूल्य जिंदगियों के असमय काल के ग्रास बन जाने का दुखद समाचार मिला। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं की शांति और परिजन को यह दु:ख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना करता हूं। विनम्र श्रद्धाजंलि।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned