video: जहां लहराया चाकू, वहां टूटा पैर व हाथ में हथकड़ी लगाकर बदमाशों को लेकर पहुंची पुलिस

तेजपुर गड़बड़ी के बदमाशों का पुलिस ने निकाला जुलूस

 

इंदौर. तेजपुर गड़बड़ी में दुकानों में तोडफ़ोड़ करने वाले आरोपी पकड़ाए तो टूटा पैर व हाथ में हथकड़ी लगी होने की स्थिति में इन्हें मौके पर लाया गया। बदमाशों ने जहां चाकू लहराए थे वहां पुलिस ने जुलूस निकाला।
19 नवंबर की शाम को बदमाशों ने दो युवकों पर चाकू से हमला करने के साथ ही दुकानों में तोडफ़ोड़ भी की थी। पुलिस ने मुख्य आरोपी लक्की तंवर, सोनू आदि छह को गिरफ्तार किया है। फरार होने का प्रयास होने पर दोनों घायल भी हो गए। गुरुवार शाम राजेंद्रनगर टीआई इन्हें लेकर तेजपुर गड़बड़ी पहुंचे। जहां बदमाश गुंडागर्दी कर रहे थे वहीं आज ढंग से चल भी नहीं पा रहे थे। पुलिस ने इनसे घटनाक्रम की पूरी जानकारी ली, इस दौरान वहां अच्छी खासी भीड़ लग गई थी। दुकानदारों ने पुलिस को धन्यवाद भी दिया।

डकैती की योजना बना रहे थे, फरार होने के चक्कर में हुए घायल
एसएसपी रुचि वर्धन मिश्र के मुताबिक राऊ-तेजाजीनगर बायपास पर पेट्रोल पंप पर डकैती की योजना की जानकारी मिलने पर राजेंद्रनगर टीआई सुनील शर्मा के नेतृत्व में दो टीमों ने सती टेकरी के पास घेराबंदी की। यहां से लक्की उर्फ गजेन्द्र तंवर (चौहान) पिता हुकुमसिह निवासी तेजपुर गडबडी, सोनू उर्फ काला उर्फ हेमन्त पिता देवनारायण लोधी तेजपुर गड़बड़ी आइडीए मल्टी , सोनू उर्फ गांववाला पिता ओमप्रकाश सोलंकी निवासी तेजपुर गडबडी, गिरीश उर्फ जीतू पंडित पिता संतोष राव निवासी तेजपुर गडबडी, उमेश उर्फ लक्की पिता हीरालाल यादव मूल निवासी खंडवा हाल भंवरकुआं व विष्णु पिता सुरेश नाथ निवासी राजस्थान हाल तेजपुर गड़बड़ी को पकड़ा। इनके दो साथी राकेश व शुभम उर्फ शिब्बु निवासी परदेसीपुरा फरार हो गए। पुलिस से बचने के चक्कर में लक्की तंवर व सोनू काला पहाड़ी से गिरकर घायल हो गए। लक्की के पास से चाकू व सोनू के पास से देशी रिवाल्वर व एक कारतूस मिला। अन्य आरोपियों से भी हथियार मिले।


परदेशीपुरा के फरार बदमाश थे राजेंद्रनगर में सक्रिय, बाउंड ओवर के बाद नहीं हुई निगरानी
घटना के बाद पुलिस की लापरवाही भी सामने आ गई है। लक्की तंवर पर हत्या सहित प्राणघातक हमले के कई मामले दर्ज है जबकि सोनू काला हाल ही में जिलाबदर अवधि पूरी कर चुका है। अफसरों का तर्क है कि दोनों को बाउंड ओवर कर दिया था। यह बात भी सामने आई है कि हमले व दुुकानों में तोडफ़ोड़ के मामले में आरोपियों के साथ राकेश व शुभम भी शामिल थे। दोनों आरोपी परदेशीपुरा इइलाके के बदमाश है, राजेंद्रनगर में लिस्टेड बदमाशों के साथ घूम रहे थे लेकिन किसी ने ध्यान नहीं दिया। धारा 327 के मामले में आरोपी फरार है, शुभम ने तो पुलिसकर्मी से मारपीट भी की थी। फरार बदमाश राजेंद्रनगर में लिस्टेड बदमाशों के साथ घूमकर फरारी काट रहे थे, नशा कर रहे थे लेकिन इसके लिए किसी को जिम्मेदार नहीं माना है। घटना में 8 आरोपी शामिल थे, दुकानदारों का कहना है कि लूट भी हुई लेकिन फिर भी पुलिस ने लूट की गंभीर धारा नहीं लगाई। हालांकि अब डकैती की योजना का एक और केस दर्ज किया है।

प्रमोद मिश्रा
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned