इंदौर में जारी है माफिया पर कार्रवाई, अमानक सोयाबीन तेल व नकली दवा बरामद

पुलिस व प्रशासन की कार्रवाई, एक जगह से 3 हजार लीटर तेल तो दूसरी जगह से दवाइयां जब्त

इंदौर. माफिया अभियान के तहत पुलिस व खाद्य विभाग की अमानत व मिलावटी सामग्री बेचने वालों के खिलाफ कार्रवाई में अब सोयाबीन तेल की फर्म पर कार्रवाई की गई। पुलिस ने करीब 3 हजार लीटर तेल बरामद किया है।
एएसपी गुरुप्रसाद पाराशर के मुताबिक, सूचना मिली थी कि अर्थव इंटरप्राइजेस एवं चिराग इंटरप्राइजेज में विगत कई समय से अमानक स्तर के मिलावटी खाद्य तेल का निर्माण एवं पेकिंग कर विक्रय किया जा रहा है जो जनस्वास्थ से खिलवाड़ है। इस पर खाद्य विभाग की टीम को साथ लेकर खण्डेलवाल कंपाउण्ड पालदा नेमावर रोड स्थित दोनों फर्मों पर छानबीन की। यह फर्म मनोज जैन, व लायसेंसी देवेन्द्र सोनी के नाम थी। दो फर्म के मालिक मनोज जैन ही है।
अर्थव इंटरप्राइजेज से सोया स्टार रिफाइण्ड सोयाबीन तेल मे प्रथम दृष्टया मिलावटी प्रतीत होने से जाँच के लिए चार नमूने लिये गये। साथ ही अलग अलग 1,2,5,15 लीटर पैकिंग में तेल मिला। करीब 3 हजार लीटर खाद्य तेल को जब्त कर जांच के लिए नमूने लिए है।
इसी तरह, क्राइम ब्रांच व औषधि विभाग (ड्रग्स) ने नकली दवा बेचने वाले मेडिकल स्टोर्स की छानबीन की। एक मेडिकल स्टोर से महिलाओं के गर्भ धारण व महावारी के समय उपयोग में आने वाली अति महत्वपूर्ण डुपास्टोन दवाई को नकली होने की आशंका में जब्त किया। दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है, कई मेडिकल स्टोर की जांच की गई है। पिछले दिनों पुलिस ने दो गोदामों से कुछ दवाएं जब्त की थी। यह दवाएं आसाम की कंपनी के द्वारा निर्माण होने की जानकारी चस्पा थी जबकि ऑनलाइन चेक करने पर पता चला कि उस नाम से कोई कंपनी ही नहीं है। एएसपी गुरुप्रसाद पाराशर के मुताबिक, इस जांच को आगे बढ़ाते हुए सूचना के आधार पर जितेन्द्र सोनी निवासी क्लर्क कालौनी को डुपास्टोन टेबलेट की पर्चियों के साथ पकड़ा। उसने बताया किे शहनवाज खान नामक व्यक्ति महिलाओं की बीमारी में इस्तेमाल होने वाली डुपास्टोन टेबलेट के बाक्स 1600 रुपये में देता है। शहनवाज को पकड़ा तो उसने दिल्ली के रामकुमार दुबे एवं आगरा के पवन मेडिकल एक बाक्स 12 सौ में लेने की जानकारी दी जबकि कंपनी यह टेबलेट 61 सौ प्रति बाक्स के रेट से बेचती है। जितेंद्र व शहनवाज को बिना लाइसेंस दवा बेचने के मामले में गिरफ्तार किया। पुलिस ने आरोपियों से मिली जानकारी के आधार पर कई मेडिकल स्टोर की जांच कर उक्त दवाओं के नमूने लिए है।

प्रमोद मिश्रा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned