script'Address Navigation' to make Indore India's first digital address cit | 'पता नेविगेशन', इंदौर को बनाएगा देश की पहली डिजिटल एड्रेस सिटी | Patrika News

'पता नेविगेशन', इंदौर को बनाएगा देश की पहली डिजिटल एड्रेस सिटी

-प्रदेश के लिए बनेगी स्टार्टअप नीति
-स्टार्ट इन इंदौर से देंगे नवाचारों को संबल
-आसान बनाते स्टार्टअप के नवाचारों से इंदौर नई पहचान गढ़

इंदौर

Published: January 26, 2022 06:49:45 pm

इंदौर। सामाजिक सेवाओं और रोजमर्रा की जरूरतों को तकनीक से रहा है। इंदौर के युवा अब तक 100 से ज्यादा स्टार्टअप शुरू कर चुके हैं। इन्हीं के बल पर इंदौर को प्रदेश की स्टार्टअप राजधानी बनाने की पहल की जा रही है। इसकी शुरुआत 26 जनवरी को ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में मुख्यमंत्री की उपस्थिति में स्टार्टअप कॉनक्लेव से हुई। इसमें नवाचारों के साथ स्टार्टअप नीति का प्रारूप रखा ।

834357-start-up.jpg
Indore

इसमें इंदौरी नवाचार 'पता नेविगेशन' से इंदौर को देश की पहली डिजिटल एड्रेस सिटी बनाने की योजना भी बनी। कोरोनाकाल से सबक लेकर देश और प्रदेश को आत्मनिर्भरता और स्वरोजगार की दिशा में आगे बढ़ने के स्टार्टअप के माध्यम से प्रयास हो रहे हैं। प्रदेश में बड़े व छोटे उद्योगों और आइटी कंपनियों को लेकर नीति है। स्टार्टअप को लेकर कोई नीति नहीं है। कलेक्टर मनीष सिंह स्टार्टअप को एक मंच देने की कोशिश में जुटे हैं।

स्टार्ट इन इंदौर फोरम

एमपीआइडीसी के कार्यकारी संचालक रोहन सक्सेना बोले, इंदौर में स्टार्टअप को लेकर बहुत संभावनाएं हैं। युवा आइटी, फूड प्रोसेसिंग, चेन मार्केटिंग, शॉपिंग, रोजमर्रा जरूरत का सामान और कंपनियों के सप्लाय क्षेत्र में नवाच कर रहे है। इन्हें एक प्लेटफॉर्म पर लाकर स्टार्ट इन इंदौर फोरम तैयार किया है। इसमें सरकार, स्टार्टअप, आइटी व स्माल उद्योगों के प्रतिनिधियों को शामिल किया जाएगा। इस फोरम से 100 से ज्यादा स्टार्टअप को जोड़ा गया है। स्टार्टअप के तैयार करना चाहते है, जिससे इसकी शुरुआत करने वालों को सरकार से मदद मिल सके। नीति का प्रारूप भी तैयार किया है।

पता नेविगेशन से मिलेगी नई पहचान

कृतिका जैन व रजत जैन ने 'पता नेविगेशन' स्टार्टअप शुरू किया। इसमें घर के को डिजिटलाइज्ड करके जीआइएस तक जोड़ा जा रहा है। इसके माध्यम से देश के शहर, कस्बों व छोटे गांवों में पहचान सहित घर का पता रहेगा, जिससे पता ढूंढ़ने में आसानी होगी। इंदौर को देश की डिजिटल एड्रेस सिटी बनाने की पहल की है। इसमें करीब 150 लोगों को रोजगार मिल रहा है, जिसके बढ़ने की संभावना है।

5 स्टार होटल्स को करते हैं सप्लाय

किमीरिका स्टार्टअप के मोहित जैन बताते हैं, स्टार्टअप बनाना आसान है, लेकिन संचालन कठिन है। किमीरिका हंटर के माध्यम से 5 स्टार होटल्स में रोजमर्रा की जरूरत का सामान सप्लाय करने का स्टार्टअप तैयार किया। आज 20 देशों में हमारा काम है। 500 लोगों को रोजगार दे रहे हैं। इसके संचालन में कई चुनौतियां आईं।


इन सुविधाओं की मांग

- स्टार्टअप के लिए प्रमुख रूप से इन्क्यूबेशन सेंटर की जरूरत है।

-सरकार की नीतियों का फायदा बताने के लिए फोरम या प्लेटफॉर्म तैयार हो।

-आर्थिक सहायता के लिए सस्ता लोन और अन्य सुविधाएं दी जाए।

- आइटी पार्ककी तरह स्टार्टअप पार्क बनें, जिससे सभी स्टार्टअप एक जगह से कार्य कर सकें।

- मार्केटिंग व जरूरतों के लिए समस्याओं के निराकरण के लिए सिंगल विंडो सिस्टम बनें।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

नाइजीरिया के चर्च में कार्यक्रम के दौरान मची भगदड़ से 31 की मौत, कई घायल, मृतकों में ज्यादातर बच्चे शामिल'पीएम मोदी ने बनाया भारत को मजबूत, जवाहरलाल नेहरू से उनकी नहीं की जा सकती तुलना'- कर्नाटक के सीएम बसवराज बोम्मईमहाराष्ट्र में Omicron के B.A.4 वेरिएंट के 5 और B.A.5 के 3 मामले आए सामने, अलर्ट जारीAsia Cup Hockey 2022: सुपर 4 राउंड के अपने पहले मैच में भारत ने जापान को 2-1 से हरायाRBI की रिपोर्ट का दावा - 'आपके पास मौजूद कैश हो सकता है नकली'कुत्ता घुमाने वाले IAS दम्पती के बचाव में उतरीं मेनका गांधी, ट्रांसफर पर नाराजगी जताईDGCA ने इंडिगो पर लगाया 5 लाख रुपए का जुर्माना, विकलांग बच्चे को प्लेन में चढ़ने से रोका थापंजाबः राज्यसभा चुनाव के लिए AAP के प्रत्याशियों की घोषणा, दोनों को मिल चुका पद्म श्री अवार्ड
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.