video: गोली मारने के बाद अब समझौते के लिए प्रलोभन दे रहे लेकिन पुलिस नहीं कर रही कार्रवाई

पुलिस पर परिजनों ने लगाया लापरवाही का आरोप, वीडियो भी दिखाया, छोटी ग्वालटोली को डीआईजी ने लगाई फटकार

इंदौर. २१ लाख के लेन-देन के विवाद में लोहा व्यापारी शैलेंद्र पंवार को गोली मारने आरोपी कपिल जायसवाल के समर्थक व अन्य लोग पीडि़त परिवार को धमका रहे है। पुलिस भी सख्ती नहीं दिखाते हुए कार्रवाई कर रही है। सोमवार को डीआईजी के पास पहुंचे परिजनों ने आरोपी पक्ष पर समझौते के लिए दबाव बनाने व प्रलोभन देने का आरोप लगाया। डीआईजी ने छोटी ग्वालटोली टीआई को फटकार लगाते हुए धमकी देने वालों के खिलाफ केस दर्ज करने के निर्देश दिए।

3 जनवरी की शाम मधुमिलन चौराहे के पास ट्रेड सेंटर में लोहा फैक्टरी के मालिक कपिल जायसवाल ने व्यापारी शैलेंद्र के पेट में लाइसेंसी पिस्टल से गोली मारी थी। घटना के समय शैलेंद्र के साथ पत्नी मोनिका भी थी। शैलेंद्र का गंभीर अवस्था में निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार किया लेकिन बाद में तबीयत खराब होने से अस्पताल में भर्ती करना पड़ा।
शैलेंद्र की पत्नी मोनिका, बेटे पराक्रम व अन्य परिजनों ने डीआईजी से छोटी ग्वालटोली पुलिस की शिकायत की। उनका कहना था, घटना के बाद से आरोपी पक्ष के लोग डरा रहे है, समझौते के लिए दबाव बना रहे। प्रलोभन दे रहे, प्रलोभन देने का पीडि़त पक्ष ने वीडियो बना रखा है जो डीआईजी को दिखाया। आरोप था कि मैनेजर राठी ने फोन कर बुलाया लेकिन पुलिस उसे आरोपी नहीं बना रही। छोटी ग्वालटोली टीआई फोन भी नहीं उठाते है। पत्नी मदद के लिए रोने लगी तो डीआईजी ने समझाया। एसपी, पूर्व मो. यूसुफ कुरैशी को धमकाने वालों पर केस दर्ज करने तथा कपिल का मेडिकल बोर्ड से परीक्षण कराने के लिए कहा। टीआई को फोन लगाकर फटकारते हुए कार्रवाई की चेतावनी भी दी।

प्रमोद मिश्रा Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned