scriptankita naagar | सिविल जज बनने के बाद बोलीं अंकिता : माता-पिता के संघर्ष देखकर कभी रोई नहीं, बल्कि इरादों को और मजबूत करती गई | Patrika News

सिविल जज बनने के बाद बोलीं अंकिता : माता-पिता के संघर्ष देखकर कभी रोई नहीं, बल्कि इरादों को और मजबूत करती गई

-सब्जी का ठेला लगाने वाले अशोक नागर की बेटी अंकिता मंगलवार को आई पत्रिका कार्यालय

-पिता ने लगाया सब्जी का ठेला, मां ने बेचे गहने

इंदौर

Updated: May 11, 2022 09:23:41 pm

रीना शर्मा विजयवर्गीय

इंदौर. कई लोग बचपन से ही किसी न किसी मुकाम को हासिल करने के सपने देख लेते हैं लेकिन मैंने कभी कोई कोई सपना नहीं देखा। मैंने देखा केवल अपने पिता का वो पसीना जो वो सब्जी बेचते वक्त बहाते थे। मैंने देखा मां को सुनार की दुकान पर जाकर मेरी फीस के लिए अपनी ज्वेलरी बेच देना और मैंने देखा माता-पिता की आंखों में मेरे लिए पल रहे वो सपने। यह बात अंकिता नागर ने पत्रिका कार्यालय में पत्रिका रिपोर्टर के साथ शेयर करते हुए कही। अंकिता ने कहा कई बार ठेले पर जाकर सब्जी बेचती थी तो पापा पढ़ाई के लिए घर भेज दिया करते थे। मां भी कभी घर काम नहीं कराती, अक्सर कहती तू पढ़। मम्मी के पास कुछ गिनी-चुनी ज्वेलरी थी जो उन्होंने मेरी फीस भरने के लिए बेच दी लेकिन मैंने उन सभी ज्वेलरी का फोटो क्लिक करके रखा है और जल्द ही मैं उन्हें वैसी ही ज्वेलरी लौटाऊंगी।
सिविल जज बनने के बाद बोलीं अंकिता : माता-पिता के संघर्ष देखकर कभी रोई नहीं, बल्कि इरादों को और मजबूत करती गई
सिविल जज बनने के बाद बोलीं अंकिता : माता-पिता के संघर्ष देखकर कभी रोई नहीं, बल्कि इरादों को और मजबूत करती गई
एक लडक़ी के लिए शादी ही सबकुछ नहीं
अब मैं अपने माता-पिता को सुकून भरी जिंदगी देना चाहती हंू। मैं हमेशा से चाहती थी कि वे एक दिन मुझ पर गर्व करें और मैंने यह कर दिखाया। अंकिता ने कहा मेरे छोटे भाई और छोटी बहन की शादी हो चुकी है। भाई रेती मंडी में नौकरी करता है, लेकिन मैं कुछ सालों तक और शादी नहीं करूंगी। अंकिता ने कहा एक लडक़ी के लिए शादी ही सबकुछ नहीं होती है। मेरी सफलता का श्रेय मेरे माता-पिता को दंूगी, जिन्होंने अपनी आर्थिक स्थिति को कभी मेरी पढ़ाई में कभी आड़े नहीं आने दिया। अंकिता कहती है मम्मी अक्सर परीक्षा के दिनों में मुझे सिर पर थपकी देकर सुलाया करती थी लेकिन एक दिन मां ने मुझे थपकी नहीं दी। मैंने अगले दिन देखा तो उनके हाथों में बहुत से कट लगे हुए थे। दरअसल ठंड के दिनों में सब्जियां धोते वक्त उनके हाथों में कट लग जाते थे।
कोर्ट की ओर देखकर कहती थी एक दिन बनूंगी जज
अंकिता रोजाना मेडिटेशन करती हैं। वो कहती है मैंने अपने टीचर से धैर्य रखना सीखा है और यह मैं मेडिटेशन के जरिए कर पाती है । मुझे लगता है हमें कभी हार नहीं मानना चाहिए। चाहे जो हो जाए मेहनत एक दिन रंग लाती है। अंकिता ने कहा माता-पिता का संघर्ष देख-देखकर मैं 10-10 घंटे तक किताबों में डुबी रहती थी। कॉलेज के सामने ही कोर्ट है इसलिए रोजाना कोर्ट की तरफ देखते हुए निकलती थी और कहती थी एक दिन जज बनकर दिखाऊंगी। अंकिता ने कहा सिविल जज के लिए चयन होने के बाद से ही मेरे पास लगातार कई लॉ के स्टूडेंट्स आ रहे है, जो मुझसे गाइडेंस ले रहे हैं। कई बच्चों ने तो बीच में ही पढ़ाई छोड़ दी थी लेकिन अब वो मुझे देखकर दोबारा लॉ करने वाले हैं।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

किसी भी महीने की इन तीन तारीखों में जन्मे बच्चे होते हैं बेहद शार्प माइंड, लाइफ में करते हैं बड़ा कामपैदाइशी भाग्यशाली माने जाते हैं इन 3 राशियों के बच्चे, पिता की बदल देते हैं तकदीरइन राशि वालों पर देवी-देवताओं की मानी जाती है विशेष कृपा, भाग्य का भरपूर मिलता है साथ7 दिनों तक मीन राशि में साथ रहेंगे मंगल-शुक्र, इन राशियों के लोगों पर जमकर बरसेगी मां लक्ष्मी की कृपादो माह में शुरू होने वाला है जयपुर में एक और टर्मिनल रेलवे स्टेशन, कई ट्रेनें वहीं से होंगी शुरूपटवारी, गिरदावर और तहसीलदार कान खोलकर सुनले बदमाशी करोगे तो सस्पेंड करके यही टांग कर जाएंगेआम आदमी को राहत, अब सिर्फ कमर्शियल वाहनों को ही देना पड़ेगा टोल15 जून तक इन 3 राशि वालों के लिए बना रहेगा 'राज योग', सूर्य सी चमकेगी किस्मत!

बड़ी खबरें

ज्ञानवापी मस्जिद मुद्दे पर राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ का पहला बयान, केंद्रीय मंत्री भी बोलेज्ञानवापी मामले को लेकर अखिलेश यादव ने हिंदू देवी-देवताओं पर की विवादित टिप्पणीअमरीकी शेयर बाजार धड़ाम, मंदी की आशंका के बीच दो साल की सबसे बड़ी गिरावटIPL 2022 LSG vs KKR : डिकॉक-राहुल के तूफान में उड़ा केकेआर, कोलकाता को रोमांचक मुकाबले में 2 रनों से हरायानोट गिनने में लगीं कई मशीनें..नोट ढ़ोते-ढ़ोते छूटे पुलिस के पसीने, जानिए कहां मिला नोटों का ढेरपुलिस में मामला दर्ज, नाराज कांग्रेस विधायक का इस्तीफा, जानें क्या है पूरा मामलाडिकॉक-राहुल ने IPL में रचा इतिहास, तोड़ डाला वार्नर और बेयरेस्टो का 4 साल पुराना रिकॉर्डकर्क सहित इन राशि वालों के लिए धन-कारोबार की दृष्टि से अनुकूल है आज का दिन, पेशेवर यात्राएं होंगी सफल
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.