कोरोना से एक और डॉक्टर की मौत, 1970 में शुरू हुई पीएमटी बैच के पहले छात्र थे डॉ शर्मा

अब तक तीन डॉक्टरों की हो चुकी है मौत, कोरोना से लड़ते हुए वरिष्ठ चिकित्सा डॉक्टर शर्मा की मौत

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Published: 23 May 2020, 08:27 PM IST

इंदौर। शहर के चिकित्सा जगत को कोरोना संक्रमण से एक बार फिर नुकसान हुआ है। शहर के वरिष्ठ चिकित्सक डॉ वीके शर्मा ने चोइथराम अस्पताल में कोरोना से लड़ते हुए दम तोड़ दिया। डॉ शर्मा को कोरोनो संक्रमण की आशंका पर सुयश अस्पताल में भर्ती कराया था। 7 मई को रिपोर्ट पॉजिटिव आने के बाद चोइथराम अस्पताल में शिफ्ट कर दिया गया था। शहर में अब तक तीन डाक्टरों की कोरोना से मौत हो चुकी है। इससे पहले डॉक्टर शत्रुघ्न पंजवानी, ओम प्रकाश चौहान की मौत हो चुकी है।

वर्ष 1970 शुरू हुई पीएमटी के पहले छात्र थे
डॉक्टर शर्मा एमजीएम मेडिकल कॉलेज में वर्ष 1970 शुरू हुई पीएमटी के पहले छात्र थे। उन्होंने अपना एमबीबीएस इंदौर से ही किया। उनके बेटे डॉ असीम शर्मा ने बताया एमबीबीएस के बाद आगे की पढ़ाई उन्होंने आयरलैंड से की और वहां से लौटकर उन्होंने गीता भवन अस्पताल में कई वर्षों तक मरीजों की सेवा की। जो मरीज फीस देने में सक्षम नहीं होते थे डॉक्टर शर्मा उनका मुफ्त में इलाज करते थे। कुछ वर्षों से एक निजी मेडिकल कॉलेज के लिए भी काम कर रहे थे, लेकिन उन्हें वेतन नहीं मिला। इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के उपाध्यक्ष डॉ संजय लोंढे ने कहा कि डॉ शर्मा लंबे समय तक भाईचारे और समाज की सेवा की। उनका निधन चिकित्सा बिरादरी और समाज के लिए बड़ी क्षति है।

Coronavirus Deaths
Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned