काॅलोनियों में बिजली, पानी व सड़क तक के इंतजाम नहीं किए, प्रशासन का अल्टीमेटम भी रहा बेअसर


-महूगांव नगर परिषद की कुछ काॅलोनियों में मूलभूत इंतजाम के अभाव में लंबे समय से परेशान रहवासी

By: Naim khan

Published: 17 Feb 2021, 08:40 PM IST


डाॅ. आंबेडकरनगर महू. जिन काॅलोनियों में काॅलोनाइजर ने विकास कार्य पूरे नहीं, उसे लेकर बीते दिनों प्रशासन ने सख्ती दिखाते हुए 31 जनवरी तक काम पूर्ण करने का अल्टीमेटम दिया था, साथ ही बीते दिनों मंत्री उषा ठाकुर तक ने काॅलोनियों में अधूरे छोड़े कामों को लेकर नाराजगी जताते हुए काॅलोनाइजर्स को फटकार लगाई थी। जिसका कोई असर काॅलोनाइजर्स पर नहीं हुआ। जिसकी हकीकत जानी तो पता चला कि महूगांव की कुछ काॅलोनियों में तो सड़क, बिजली व पानी के लिए लोग अब भी तरस रहे हैं, यहां समस्या दूर करने के लिए काॅलोनाइजर ने कोई काम नहीं किए, न ही प्रशासन की ओर से काॅलोनाइजर्स पर कोई कार्रवाई की गई।

कहां क्या स्थिति
पेयजल के लिए एक बोरिंग तक नहीं
विमल विहारः यहां इलेक्ट्रिपिफकेशन के कोई कार्य नहीं हुए। जिस कारण रहवासियों का स्थायी बिजली कनेक्शन वर्षों से नहीं मिले व काॅलोनाइजर के एक कनेक्शन से ही सबको महंगी दर पर बिजली मिल रही है। रहवासी सुरेंद्र पटेल, विनय बहादूर व जगदीश सिंह ने बताया काॅलोनी में पेयजल के लिए एक बोरिंग तक नहीं है, टैंकरों से पानी खरीदकर पूर्ति करना पड़ रही है। गार्डन के लिए सिर्फ जगह छोड़ी गई, गार्डन नहीं बनाया। चैबर्स बनाए ही नहीं। और काॅलोनी की मुख्य सड़क कच्ची है। जबकि प्लाॅट खरीदते समय काॅलोनाइजर ने आलिशान सुविधाएं देने के वादे किए थे लेकिन यहां से अच्छी ग्रामीण क्षेत्रों की स्थिति है।

सिर्फ वादे किए, काम कुछ नहीं
मदन विहारः यहां पेयजल की भीषण समस्या है। पेयजल के नाम पर एक कुएं जिससे आठ दिन में एक बार पानी सप्लाय किया जा रहा है। रहवासी मीरा पांडे ने बताया 2012 में हमने यहां प्लाॅट खरीदा तो बताया गया था कि भरपूर पानी सहित तमाम सुविधाएं रहेंगी लेकिन कोई इंतजाम नहीं किए। भीतर कुछ जगह सीमेंट कांक्रीट की सड़कें हैं, बाकी आसपास की सभी सड़कें कच्ची हैं, जहां से बारिश में आफत के बीच निकलना पड़ता है। काॅलोनी के आसपास न बाउंड्रीवाॅल है, न ही कोई गार्डन।

सिंगल कनेक्शन से सभी को मिल रही बिजली
पीस वैलीः काॅलोनी में सड़क, बिजली, पानी के कोई इंतजाम नहीं हैं। सड़कों के नाम पर गिट्टी डली हुई है, और यहां भी काॅलोनाइजर के सिंगल कनेक्शन से ही सभी मकानों को बिजली नसीब हो रही हैं। जिसमें आए दिन पफाॅल्ट होने से बिजली की समस्या बनी है। काॅलोनी में पेयजल के कोई इंतजाम नहीं किए गए।

काॅलोनी में कोई सुविधा नहीं दी
राॅयल स्टेटः यहां भी कोई मूलभूत इंतजाम नहीं किए गए। रहवासी मृगेंद्र सोनी ने बताया काॅलोनी में न ड्रेनज है, न के पानी के कोई इंतजाम। हर माह डेढ़ से दो हजार रूपए टैंकरों से पानी खरीदने में खर्च होते हैं। बिजली के भी किसी के पास स्थायी कनेक्शन नहीं हैं। सड़कें भी नहीं बनाई गईं। काॅलोनाइजर से कई बार शिकायतें की लेकिन वहां से सिर्फ आश्वासन मिला।

टीम भेजकर निरीक्षण कराया जाएगा
पहले चरण में हमने भाटखेड़ी की एक काॅलोनी व महूगांव की सुपरसिटी के काॅलोनाइजर से बांड भरवाकर 31 जनवरी तक अधूरे काम पूरे करने का अल्टीमेटम दिया था। जिसके बाद वहां इलेक्ट्रिफिकेशन के काम किए गए हैं। महूगांव की जिन काॅलोनियों में समस्याएं हैं, वहां अधूरे काम पूर्ण करवाने के लिए भी काॅलोनाइजर्स पर सख्ती बरती जाएगी। साथ ही गुरूवार को इनका टीम भेजकर निरीक्षण करवाया जाएगा।-अभिलाष मिश्रा, एसडीएम

Naim khan
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned