सजीव आकृतियों में बदल गए निर्जीव चम्मच

सजीव आकृतियों में बदल गए निर्जीव चम्मच

वाजिद खान बना रहे हैं स्पून आर्ट से कलात्मक आकृतियां

इंदौर. किसी भी चीज को कला के रूप में देखने के लिए अलग नजरिया होना चाहिए। एक असली कलाकार वही होता है जो अपनी सोच से एकअद्भुत कलाकृति का निर्माण करे। कुछ ऐसा ही कर रहे हैं शहर केजाने माने आर्टिस्ट वाजिद खान। हर बार कुछ नया करने वाले वाजिदखान इस बार स्पून आर्ट के जरिए अपनी रचनात्मकता को अभिव्यक्ति दे रहे हैं। अपने आर्ट में उन्होनें जिंदगी के अलग अलग पड़ावों को स्पून आर्ट के जरिए दिखाने की कोशिश की है। स्टील की छोटी-बड़ी चम्मचों, छुरी- कांटों को मोड़कर वो पल भर में एक खास तरह की आकृति में तब्दील कर देते हैं। उनका ये आर्ट वर्क बेहद आकर्षक है। 

मां की ममता से लेकर पियानो तक 

स्पून आर्ट में कहीं मां की गोद में बच्चा नजर आता है तो कहीं नृत्य करता युगल। वाजिद को एक आकृति बनाने में तीन मिनट लगते हैं। 

वर्कशॉप में सिखाया स्पून आर्ट 

वाजिद खान ने बताया कि इस कला को बढ़ावा देने के लिए वे शहर के विभिन्न क्षेत्रों में वर्कशॉप भी आयोजित कर रहे हैं, जिसमें वे लगभग 300 बच्चों को प्रक्षिशण देंगे। इस वर्कशॅाप में बच्चों से लेकर युवा और बुुजुर्ग महिलाएं भी हिस्सा ले रही हैं। वे कहते हैं कि इस वर्कशॉप का मुख्य उद्देश्य बच्चों को कला से जोडऩा और महिलाओं को को आत्मनिर्भर बनाने की कोशिश करना है।

MP/CG लाइव टीवी

Ad Block is Banned