आशीष दास पर मेहरबान पुलिस, थाने में पार्टनर के साथ हो रही बैठक, होटल से आ रहा खाना

दो बार रिमांड के बाद भी नहीं उगलवा पाई हकीकत

By: amit mandloi

Published: 20 Jul 2018, 01:44 AM IST

इंदौर. पिनेकल प्रोजेक्ट धोखाधड़ी के मुख्य आरोपी आशीष दास पर पुलिस की सख्ती नजर नहीं आ रही है। देर रात में प्रोजेक्ट से जुड़े लोगों की मुलाकात थाने में हो रही है। होटल से खाना आ रहा है, साथ ही उसे लॉकअप की जगह कमरे में रखा जा रहा है। वहीं टीआइ सुधीर अरजरिया ने बताया कि थाने में आशीष दास से मुलाकात करवाने की बात गलत है। होटल से खाना नहीं आ रहा है। पुलिस अफसर खुद पूरे मामले की मॉनिटरिंग कर रहे हैं।

विजयनगर पुलिस ने पिनेकल ड्रीम्स व पिनेकल डिजायर धोखाधड़ी मामले में कंपनी के डायरेक्टर आशीष दास को गिरफ्तार किया है। पुलिस दो बार रिमांड बढ़वा चुकी है और कई बार उसे पिनेकल ड्रीम्स ले जा चुकी है, लेकिन पुलिस के हाथ कोई महत्वपूर्ण दस्तावेज नहीं लगा है।
आरोप है, आशीष दास से जुड़े लोग लक्जरी गाडिय़ों से विजय नगर थाने पहुंच रहे हैं। बुधवार रात भी एक काले रंग की कार से दो लोग उससे मिलने पहुंचे। एक कमरे में उन्होंने काफी देर तक आशीष से बातचीत की। सोशल मीडिया पर थाने के बाहर मौजूद कार व थाने में एक व्यक्ति की फोटो देर रात से वायरल हो रहे हैं। गुरुवार को पुलिस अफसरों को इसकी भनक लगी तो गोपनीय रूप से मामले की जांच कराई जा रही है। एएसपी शैलेंद्र ङ्क्षसह चौहान भी गुरुवार को थाने पर पहुंचे थे। हालंाकि उन्होंने आशीष दास को किसी भी तरह की सुविधा थाने में मिलने से इनकार किया।
बता नहीं रहे अफसर
आशीष दास से पुलिस अफसर लगातार पूछताछ कर रहे हैं। उसके 18 बैंक खातों की जानकारी भी मिल चुकी है। लेकिन क्या सामने आया, यह बताने में बच रहे हैं।
विशेष व्यवस्था
सूत्रों के अनुसार, आशीष दास को विशेष व्यवस्थाएं मुहैया कराई जा रही है। थाने के स्टाफ को उससे बात करने की मनाही है। यह भी चर्चा है कि कुछ दिन पहले जब विजय नगर पुलिस उसे लेकर मुंबई के लिए कार से निकली थी, तब एरोड्रम इलाके में परिजन से उसकी मुलाकात कराई गई थी।

amit mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned