देश में फिर नोटबंदी जैसे हालात, वित्त मंत्री ने कहा नहीं बचे नोट, ATM और बैंकों में खत्म हुआ कैश

देश में फिर नोटबंदी जैसे हालात, वित्त मंत्री ने कहा नहीं बचे नोट, ATM और बैंकों में खत्म हुआ कैश

Arjun Richhariya | Publish: Apr, 17 2018 01:04:02 PM (IST) | Updated: Apr, 17 2018 01:04:44 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

बड़ी खबर : प्रदेशभर के एटीएम में खत्म हुआ कैश, वित्त मंत्री ने कहा नहीं बचे नोट, सीएम ने बताया बड़ी साजिश

इंदौर. प्रदेश के अधिकांश शहरों के एटीएम में कैश समाप्त हो गया है और ज्यादातर के बाहर नोटिस लगा हुआ है कि कैश नहीं है। इंदौर के साथ ही भोपाल, जबलपुर, ग्वालियर, उज्जैन, सागर, सतना और शहडोल जैसे जिलों में भी यही हालात बन गए हैं।

अभी के हालात को देखते हुए यह कहा जा सकता है कि आने वाले दिनों में नोटों की किल्लत और अधिक बढ़ेगी और लोग कैश के लिए बहुत ज्यादा परेशान हो सकते हैं। यह समस्या इसलिए भी अधिक बढ़ गई है क्योंकि बड़े नोट तो आ रहे हैं पर छोटे नोटों की भारी कमी हो गई है।

वहीं वित्त मंत्री ने कहा है कि आरबीआई से छोटे नोट नहीं मिल रहे इसलिए लोगों को कुछ दिन तक तो कम से कम कैश में ही काम चलाना पड़ेगा।

दरअसल, नोटबंदी के बाद से प्रदेशभर के एटीएम में कई परेशानियां आ रही हैं। पहले नोट के साइज और स्पेसिफिकेशन को लेकर मुश्किल आई और अब नोटों की कमी का संकट आ चुका है।

बैंकों ने एटीएम को पहले नए और बड़े यानी की दो हजार के नोटों के लिए तैयार किया। बड़े नोट आने से इनकी क्षमता तो बढ़ी, पर इनका उपयोग करने वालों की मांग के अनुरूप छोटे नोट की व्यवस्था गड़बड़ा गई। अफसरों के मुताबिक, नए नोट छपने तक तो समस्या कम हुई, पर सरकार की नीतियों से मामला बिगड़ गया।

छोटे नोट अधिक चाहिए
क्षमता बढऩे से एटीएम के कैश की मांग भी बढ़ गई। इसके लिए बैंकों ने आनुपातिक नोट रखना शुरू किए। एटीएम पर छोटे नोट की डिमांड बढऩे लगी। दो हजार से कम की डिमांड पर मुश्किल आने लगी, क्योंकि आनुपातिक छोटे नोट जल्द खत्म होने लगें। एक बैंक अधिकारी ने बताया, सबसे ज्यादा किल्लत 100 और 200 के नोट की है।

वित्तमंत्री ने की कैश कम निकालने की अपील
उधर, मंगलवार को प्रदेश में चल रही कैश की भारी किल्लत को लेकर मप्र के वित्तमंत्री जयंत मलैया ने प्रदेशवासियों ने कैश कम निकलाने की अपील की है। मलैया ने कहा कि आरबीआई से नोट कम मिल रहे हैं। जो नोट मिल रहे हैं वे बढ़े नोट हैं। ऐसे में लोग ज्यादा निकासी से बचें।

प्रदेश सरकार आरबीआई और केंद्र सरकार से संपर्क बनाए हुए है। मलैया ने कहा कि मप्र के पास 15 लाख करोड़ रुपए कैश हैं जिसमें से 7 लाख करोड़ रुपए के नोट 2000 रुपए के हैं इस कारण भी एटीएम में कैश की समस्या आ रही है।

मुख्यमंत्री ने कहा यह एक साजिश है
मुख्य मंत्री शिवराज सिंह चौहान ने प्रदेश में कैश की किल्लत को साजिश बताया है। उन्होंने शाजापुर में किसान सम्मेलन में कहा कि आज प्रदेश में नकदी की कमी पैदा की जा रही है। बाजारों से 2 हजार रुपए के नोट गायब होना भी षड्यंत्र है। केंद्र व प्रदेश सरकार सख्त कार्रवाई करेगी।

सीएम ने कहा कि जब नोटबंदी हुई थी, तब 15 लाख करोड़ रुपए के नोट बाजार में थे और आज साढ़े सोलह लाख करोड़ के नोट छापकर बाजार में भेजे गए हैं, किन दो-दो हजार के नोट कहां जा रहे हैं, कौन दबाकर रख रहा है, कौन नकदी की कमी पैदा कर रहा है... यह षड्यंत्र है। चौहान ने कहा कि यह षडयंत्र इसलिए किया जा रहा है, ताकि दिक्कतें पैदा हों।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned