गांवों को स्वस्थ करेगा ‘आयुष’

Arjun Richhariya

Publish: Sep, 17 2017 11:17:33 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
गांवों को स्वस्थ करेगा ‘आयुष’

जिले के चार गांवों में शिविर लगाकर होगा पांचों पद्धतियों से इलाज

इंदौर. स्वास्थ्य विभाग की तर्ज पर आयुष विभाग भी लोगों का इलाज करने के लिए शिविर लगाएगा। ये शिविर चार गांवों में लगाए जाएंगे। इसके लिए केंद्र सरकार ने अलग से बजट रखा है। एक ही छत के नीचे आयुष की पांचों पद्धतियों से इलाज किया जाएगा।

केंद्र सरकार के आयुष मंत्रालय ने आयुष ग्राम योजना के तहत देश के कई गांवों को चिन्हित किया है, जिसमें जिले के चार गांव रंगवासा, माचल, बडग़ोंदा और गवली पलासिया शामिल हैं। इन गांवों में विशेष स्वास्थ्य शिविर लगेंगे। इसके अंतर्गत मरीजों की जांचें, स्वास्थ्य परीक्षण के साथ ही इलाज किया जाएगा। संभागीय आयुष अधिकारी डॉ. जगदीश पंचोलिया के मुताबिक, योजना में संभाग के इंदौर जिले के चार गांवों के अलावा बुरहानपुर के दो गांव भी शामिल हैं।

हर गांव को मिलेंगे चार लाख
शासन ने गांवों में शिविर लगाने के लिए शहर के शासकीय अष्टांग आयुर्वेदिक कॉलेज के प्राचार्य को नोडल अधिकारी बनाया है। इसके लिए डॉक्टरों की कई टीमें कामकर रही हैं। हर गांव में 3 लाख 93 हजार रुपए खर्च किए जाएंगे।

इलाज के साथ और भी सुविधाएं
शिविर में इलाज के अलावा गांवों का स्वास्थ्य सर्वे भी किया जाएगा, ताकि भविष्य में योजनाएं उसी हिसाब तय की जा सकें। ग्रामीणों को योजनाओं के कार्ड बनाकर दिए जाएंगे। योग और जागरूकता शिविर भी होंगे और ग्रामीणों को औषधियों की जानकारी देने के साथ जड़ी-बूटियों की खेती करने के लिए प्रेरित किया जाएगा।

ये पद्धतियां शामिल
आयुष के अंतर्गत पांच पद्धतियां आती हैं, जिसमें आयुर्वेद, योग, होम्योपैथी, यूनानी और सिद्ध पद्धतियां शामिल हैं। शिविर में इन्हीं पद्धतियों से इलाज किया जाएगा। मौके पर ही जांच, परीक्षण और दवाइयां मुफ्त में दी जाएगी। इसके साथ ही लोगों को निरोगी रहने के गुर सिखाए जाएंगे।

भारत सरकार ने आयुष ग्राम योजना शुरू की है, जिसमें जिले के चार गांवों को शामिल किया है। योजना के अंतर्गत ग्रामीणों के इलाज के लिए स्वास्थ्य शिविर लगाने के साथ जागरूकता अभियान भी चलाया जाएगा।
डॉ. ज्योति पांचाल, जिला आयुष अधिकारी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned