ट्रैकिंग करने गए युवक पर मधुमक्खियों ने किया ऐसा हमला, तीन घंटे तक कंबल ओढक़र बैठना पड़ा

ट्रैकिंग करने गए युवक पर मधुमक्खियों ने किया ऐसा हमला, तीन घंटे तक कंबल ओढक़र बैठना पड़ा

Reena Sharma | Publish: Mar, 17 2019 11:01:33 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India

खुड़ैल इलाके का मामला : बचाने में पुलिसकर्मी और स्थानीय लोग भी हुए घायल

इंदौर. खुड़ैल इलाके के घाट पर 3 युवक ट्रैकिंग करने पहुंचे। रस्सी के सहारे पहला युवक नीचे खाई में उतर रहा था तब मधुमक्खियों ने उस पर हमला कर दिया। इस हमले में वह बुरी तरह घायल हो गया। साथियों ने गांव वालों को मदद के लिए बुलाया तो उन पर भी मधुमक्खियों ने हमला कर दिया। चार घंटे की मशक्कत के बाद युवक को निकाला जा सका।

खुड़ैल इलाके के मोहडिय़ा में 13 मार्च की दोपहर अमित चोपड़ा (45) निवासी बंगाली चौराहा, विक्रम चोपड़ा, विशाल गौड़ (24) निवासी कनाडिय़ा ट्रैकिंग करने पहुंचे थे। यहां पर करीब 300 फीट गहरी खाई है। बारिश के दिनों में यहां पर झरना बहता है। बाकी समय में यहां पर काफी लोग ट्रैकिंग के लिए आते हंै। रस्सी बांधकर अमित सबसे पहले नीचे खाई में उतरा। वह कुछ दूरी तक ही उतरा कि वहां पर लगा मधुमक्खी का छत्ता उससे टूट गया। इसके चलते छत्ते की मधुमक्खियों ने अमित पर हमला कर दिया। वह जोर-जोर से चीखने लगा। ऊपर खड़े दोस्तों ने रस्सी खींचकर उसे ऊपर लेने की कोशिश की। इसी दौरान मधुमक्खियों ने उन पर भी हमला कर दिया। वे लोग बचने के लिए वहां से भाग निकले। कुछ दूरी पर स्थित गांव पहुंचकर उन्होंने लोगों को घटना की जानकारी दी। इस दौरान अमित रस्सी पर ही लटका रहा। 8-10 गांव वाले तक उनके साथ पहुंचे। वे लोग भी मधुमक्खियों की चपेट में आ गए। दो गांव वालों ने फिर भी हिम्मत दिखाते हुए खाई के साइड के रास्ते से नीचे उतरने की कोशिश की। जानकारी मिलने पर कम्पैल चौकी प्रभारी राजेशसिंह डाबर, हेड कांस्टेबल मोहनसिंह डाबर, सिपाही श्रीनिवास गुर्जर भी पहुंचे।

आंख नहीं खुल रही थी, चल भी नहीं पा रहा था

इस खाई में ट्रैकिंग करने वाले रस्सी के सहारे ही उतरते हंै, फिर रस्सी से ही ऊपर आ जाते हंै। घटना के चलते ऊपर मौजूद लोगों ने रस्सी को छोडक़र जैसे-तैसे अमित को नीचे उतारा। दूसरे रास्ते से स्थानीय लोग कंबल लेकर नीचे गए। मधुमक्खियां लगातार अमित के पीछे लगी रहीं। बाद में स्थानीय लोगों ने उसे कंबल दिया। वह भी कंबल ओढक़र करीब तीन घंटे तक नीचे बैठे रहे। अंधेरा होने पर जब मधुमक्खियां चली गईं तो काफी मशक्कत के बाद रस्सी के सहारे अमित को ऊपर लाया गया। हमले के चलते उसकी आंख नहीं खुल रही थी, वह चल भी नहीं पा रहा था।

बचाने वाले भी फंसे

अमित को लोग व पुलिसकर्मी ऊपर खींच रहे थे। इस दौरान संतुलन बिगडऩे से दो-तीन लोग रस्सी के साथ लटक गए तो पुलिसकर्मियों ने ऊपर लिया, फिर धीरे-धीरे कर अमित को ऊपर लाया गया। विक्रम व विशाल को 108 एंबुलेंस से अस्पताल भेजा गया। इलाज के बाद वे वापस आए। अमित को दोनों साथी ले गए। रेस्क्यू ऑपरेशन में कम्पैल चौकी प्रभारी राजेशसिंह डाबर का मोबाइल भी गिरकर टूट गया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned