scriptBefore independence, 1 rupee 8 annas annual tax on bicycles in city | जब साइकिल टैक्स को मुद्दा बनाकर नागरिक समिति ने जीता था निगम चुनाव | Patrika News

जब साइकिल टैक्स को मुद्दा बनाकर नागरिक समिति ने जीता था निगम चुनाव

- आजादी से पहले शहर में साइकिल पर लगता था एक रुपए आठ आना सालाना टैक्स

- पहली परिषद ने वृद्धि की तो नागरिक समिति ने इसे बनाया चुनावी मुद्दा

इंदौर

Published: June 26, 2022 06:00:38 pm

जुड़े मुद्दों ने हमेशा ही सरकारों को सबक सिखाया और बड़े उलटफेर किए। वर्तमान नगर निगम चुनाव में लोगों को अपने जीवन से जुड़े मुद्दे का दोनों दलों की ओर से इंतजार है। बहरहाल, यह तो घोषणा पत्र के साथ आते रहेंगे।
ek_kissa_political_special.png
अतीत के नगर निगम चुनाव को देखें तो शहर में साइकिल पर लगने वाले टैक्स के मुद्दे ने इंटक से परिषद छीनकर नागरिक समिति के हाथों में सौंप दी थी। शहर में आजादी से पहले साइकिल पर एक रुपए आठ आने का सालाना टैक्स लगता था। इसे जमा करने पर एक पीतल का बिल्ला मिलता था, जिसे वर्तमान में वाहनों की नंबर प्लेट की तरह लगाना होता था।

इंदौर में राजपरिवार रहा हो या नगर परिषदें, विकास के लिए लोगों से ही राशि वसूली गई। इंदौर सिटी म्युनिसिपलिटी इन साइकिलों पर भी टैक्स लगाती थी। 1956 में जब नगर निगम बनी तो लोगों को उम्मीद थी, इसे समाप्त कर दिया जाएगा। इसे समाप्त तो नहीं किया, बल्कि टैक्स बढ़ाने की तैयारी कर ली।

1958 में निगम चुनाव की सुबगुबाहट शुरू हुई। मिल एरिया के नेता होमी दाजी, पुरुषोत्तम विजय व अन्य ने समिति का गठन किया। नागरिक मोर्चे की बागडोर संभाली होमी दाजी, पुरुषोत्तम विजय, लक्ष्मीशंकर शुक्ला, प्रभाकर अड़सुले, गोवर्धनलाल ओझा, यज्ञदत्त शर्मा व अन्य गैर दलीय सामाजिक कार्यकर्ताओं ने। समिति ने साइकिल टैक्स के साथ ही इंदौर के विकास को मुद्दा बनाया। एटक व इंटक को पछाड़ कर परिषद बना ली। एलएन शुक्ला, बालकृष्ण गौहर व अन्य महापौर बनें। प्रभाकर अड़सुले को भी महापौर चुना गया, लेकिन वे 24 घंटे ही कुर्सी पर काबिज रहे, दूसरे दिन पद छोड़ना पड़ा। समिति ने टैक्स हटा दिया, लेकिन पीतल की प्लेट लगती रही।

इस तरह बनाई रणनीति
तत्कालीन इंटक नेता श्यामसुंदर यादव बताते हैं, वह दौर मजदूर राजनीति के लिए संघर्ष का दौर था। उस समय इंदौर में कम्युनिस्ट का बोलबाला था। इंटक मजदूर हितों की लड़ाई लड़ता था। चुनाव में कांग्रेस के साथ अहम भूमिका में होता था। इसके नेता वीवी द्रविण, रामसिंह भाई थे। होमी दाजी ने सोचा, कम्युनिस्ट पूरे शहर में नहीं है। सिर्फ मिल क्षेत्र तक ही सीमित है, इसलिए नागरिक संगठन के साथ मिलकर समिति बना ली। मिलों में काम करने वाले शिक्षितों को चुनाव लड़ने के लिए प्रेरित किया। शुक्ला, शर्मा बुध्दिजीवी तबके से जुड़े थे। चुनाव शुरू हुए तो साइकिल ही प्रचार का प्रतीक बनी।

दिनभर थाने में...
सामाजिक कार्यकर्ता अशोक कोठारी बताते हैं, हम साइकिल से स्कूल जाते थे। एक दिन रॉन्ग साइड आने पर मुझे, रंजन अग्रवाल, राजीव बारपुते को रोक लिया। राजीव के पिताजी को फोन लगाया तो उन्होंने कहा, नियम तोड़ा है, सजा देकर छोड़ना, दिनभर थाने में बैठे रहे।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

सोनिया गांधी से मुलाकात के बाद बोले तेजस्वी यादव- 'नीतीश जी का हमसे हाथ मिलाना BJP के मुंह पर तमाचे की तरह''स्मोक वार्निंग' के कारण मालदीव जा रही 'गो फर्स्ट' की फ्लाइट की हुई कोयंबटूर में इमरजेंसी लैंडिंगHimachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा ऐलान, सरकार बनी तो किसानों का तीन लाख तक का कर्ज होगा माफBJP का महागठबंधन पर बड़ा हमला, सांबित पात्रा बोले- नीतीश-तेजस्वी के साथ आते ही बिहार में जंगलराज शुरू
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.