भय्यू महाराज आत्महत्या मामले के जांच के दस्तावेज पेश करने से बच रही पुलिस

जिला कोर्ट में आवेदन पेश, 6 को फैसला सुनाएगी कोर्ट। आदेश को चुनौती देने हाई कोर्ट में दायर करेंगे याचिका।

इंदौर. भय्यू महाराज आत्महत्या मामले में बुधवार को जिला कोर्ट में सुनवाई हुई। 8 अगस्त को कोर्ट ने पुलिस को आदेश दिए थे कि वे मामले में घटना से लेकर एफआइआर लिखने के बीच की गई जांच के पूरे दस्तावेज पेश करे।, जो पुलिस ने अब पूरा नहीं किया है। बुधवार को शासन को रिपोर्ट पेश करना था, लेकिन उनकी ओर से आवेदन पेश कर कहा है कि वे कोर्ट के 8 अगस्त 2019 को दिए आदेश को हाई कोर्ट में चुनौती देना चाहते हैं, इसलिए कुछ समय दिया जाए।


उधर, शासन के आवेदन पर आरोपियों की ओर से आपत्ति ली गई। एडवोकेट धर्मेंद्र गुर्जर ने बताया, कोर्ट के 8 अगस्त के आदेश को अब चुनौती क्यों दी जा रही है। अभियोजन पक्ष जानबूझ कर सुनवाई टालना चाह रहा है। कोर्ट ने दोनों के आवेदन के आधार पर 6 दिसंबर को सुनवाई के आदेश दिए हैं। मामले में पुलिस ने महाराज के सेवक विनायक दुधाले, शरद देशमुख और पलक पुराणिक को आरोपी बनाया है। पुलिस ने 12 जून को महाराज की आत्महत्या के बाद लगातार 6 महीने तक जांच की थी और फिर 18 जनवरी को एफआईआर दर्ज की थी, लेकिन जांच के दौरान लिए गए दर्जनों लोगों के बयान, दस्तावेज सहित अन्य सबूतों की जानकारी कोर्ट में अब तक पेश किए।

shatrughan gupta
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned