scriptBig relief: families of corona deceased have received compensation | बड़ी राहत : 4837 कोरोना मृतक के परिवारों को अब तक मिल चुका मुआवजा | Patrika News

बड़ी राहत : 4837 कोरोना मृतक के परिवारों को अब तक मिल चुका मुआवजा

अब रह गए हैं सिर्फ 150 आवेदन शेष

इंदौर

Published: July 31, 2022 11:27:07 am

इंदौर। कोरोना महामारी में जान गवाने वालो के परिवार को सरकार ने 50-50 हजार रुपए का मुआवजा दिया। इंदौर में ये आंकड़ा पांच हजार के करीब पहुंच गया है। बड़ी बात ये है कि लगभग सारे आवेदनों का
निराकरण हो गया है। अब सिर्फ 150 से ही बचे हैं जो दस्तावेज पेश नहीं कर पा रहे हैं। चौंकाने वाली बात ये है कि 2206 तो ऐसे ही हैं जो अपने दस्तावेज पेश नहीं कर पाए।
बड़ी राहत : 4837 कोरोना मृतक के परिवारों को अब तक मिल चुका मुआवजा
बड़ी राहत : 4837 कोरोना मृतक के परिवारों को अब तक मिल चुका मुआवजा
मार्च 2020 में शुरू हुई कोरोना महामारी ने डेढ़ साल में तबाही मचाकर रख दी थी। पहली और दूसरी लहर में
जमकर विनाश हुआ। जिसमें लाखों की संख्या में लोग संक्रमित हुए तो हजारों की संख्या में इंदौर में ही मौत हो गई। हालात इतने बदतर थे कि अस्पतालों में मरीजों को जगह नहीं मिल रही थी। जो भर्ती थे वे जीवन रक्षक इंजे€शनों के लिए संघर्ष कर रहे थे। कई अस्पतालों में ऑ€सीजन खत्म हो गई तो सरकार ने वायुसेना
के प्लेन से टैंकरों को लाने ले जाने का काम किया।
आखिरकार ये कहर खत्म हो गया। सरकार ने भी मरने वाले परिवारों की मदद करने के लिए 50-50 हजार रुपए की मुआवजा देने की घोषणा की। इंदौर में 8067 मृतकों के परिजनों ने आवेदन किए। इस मामले को कले€टर मनीष सिंह ने काफी गंभीरता से लिया और अपर कले€टर राजेश राठौर को वितरण की ज्मिेदारी सौंपी। बकायदा एक टीम बनाई गई जिसमें आवेदन लेने से लेकर निराकरण तक की व्यवस्था की गई। पटवारी प्रवीण पाटीदार को पूरी तरह से इस काम में लगाया गया। आठ हजार आवेदनों में से अब सिर्फ 150 ही बचे हैं जिनको आर्थिक मदद की जाना शेष है।
बड़ी बात ये है कि 4837 परिवारों को इंदौर जिला प्रशासन मदद पहुंचा चुका है। उनके खाते में 50-50 हजार रुपए जमा हो चुके हैं। कई परिवार तो ऐसे भी थे जिनका कमाकर घर चलाने वाला मुखिया चला गया।
सरकार की ये राशि उनके लिए किसी वरदान से कम साबित नहीं हुई। कार्यालय पर आकर कई ने अफसरों को दुआएं भी दी।
2206 लोगों ने दिया डबल आवेदन
बहुत ही बारीकी से आवेदनों की जांच की गई। जिसमें 2206 डबल आवेदन निकले तो 39 शासकीय सेवक थे
जिनके पत्नी, बेटा या बेटी को सरकार ने अनुकंपा नियुक्ति दे दी। इसके अलावा 267 ऐसे आवेदन थे जो जिले के बाहर निवास करने वाले थे। इसके अलावा 43 लोगों के आवेदनों को कमेटी ने निरस्त भी कर दिए। कई आवेदन अपूर्ण हैं जिनकी संख्या अच्छी है।
बार-बार बुलाए जाने पर उनके परिजन ना तो आ रहे हैं और ना ही दस्तावेज पेश कर पा रहे हैं। ऐसी स्थिति में उनके आवेदन निरस्त करने पर विचार किया जा रहा है। यहां तक कि राठौर ने कुछ आवेदनों की तफ्तीश करने के लिए तहसीलदारों को जिम्मेदारी भी सौंप दी थी ताकि कैसे भी करके दस्तावेजी पूर्णता हो जाए और परिवारों की मदद की जा सके। इतना सब कुछ के बावजूद कई लोग आवेदन करके भूल गए।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

कैबिनेट विस्तार के बाद पहली बार नीतीश कैबिनेट की बैठक, इन एजेंडों पर लगी मुहरभाजपा विधायक केपी त्रिपाठी के समर्थकों की गुंडागर्दी, सीईओ को पीटकर कचरे के ढेर में फेंकाDelhi: भारत को अमीर देश बनाने के लिए हर भारतवासी को अमीर बनाना पड़ेगा - अरविंद केजरीवालमुंबई पुलिस की बड़ी कार्रवाई, गुजरात के भरूच में पकड़ी ‘नशे’ की फैक्ट्री, 1026 करोड़ के ड्रग्स के साथ 7 गिरफ्तारभूस्खलन से हिमाचल में 100 से अधिक सड़कें ठप, चार दिन भारी बारिश का अलर्टबिहारः मंत्रियों में विभागों का बंटवारा, गृह मंत्रालय नीतीश के पास, तेजस्वी के पास 4 विभाग, तेज प्रताप का घटा कद, देखें Listजिम्बाब्वे दौरे के लिए केएल राहुल को कप्तान बनाए जाने पर पहली बार शिखर धवन ने दी अपनी प्रतिक्रियाVideo मध्यप्रदेश में बाढ़ के हालात, सात जिलों में राहत-बचाव का काम शुरू, लोगों को घरों से निकाला
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.