ग्रामीण क्षेत्रों की राशन दुकानों में भी अब बायोमेट्रिक सिस्टम से मिलेगा राशन

ग्रामीण क्षेत्रों की राशन दुकानों में भी अब बायोमेट्रिक सिस्टम से मिलेगा राशन

Arjun Richhariya | Publish: Jul, 13 2018 09:43:21 PM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India


-शुरुआती दौर में २३ पंचायतों में हितग्राहियों के आधार नंबर को पीओएस मशीन से लिंक किया जा रहा, तकनीकी दिक्कतें भी आ रहीं


डॉ. आंबेडकर नगर(महू). कैंटबोर्ड व नगर परिषद क्षेत्रों के बाद अब ग्रामीण क्षेत्रों की राशन दुकानों से भी जल्द ही बायोमेट्रिक सिस्टम के माध्यम से राशन दिया जाएगा। जिसके लिए शुरुआत तौर पर २३ पंचायतों में राशनकार्ड धारी व उनके परिवार के सदस्यों के आधार नंबर को पीओएस मशीन के साथ सीड किया जा रहा है। साथ ही प्रत्येक के थंब एंप्रेशन लिए जा रहे हैं।
राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा कानून के तहत अब ग्रामीण क्षेत्र के राशन कार्ड धारकों के आधार नंबर को पीओएस(पाइंट ऑफ सेलिंग) मशीन से लिंक किया जा रहा है। जिसकी अंतिम तिथि पहले 30 जून थी जो अब आगे बढ़ा दी गई है। जिसके बाद शहरी क्षेत्रों की तरह ग्रामीण क्षेत्र की राशन दुकानों पर भी बयोमेट्रिक्स सिस्टम यानी मशीन पर थंब इंप्रेशन से राशन दिया जाएगा। पहले बायोमेट्रिक बस शहरों की राशन दुकानों पर लागू की गई थी, लेकिन अब इसे गांवों में भी प्रभावी किया जा रहा है। शुरुआती तौर पर तहसील की २३ पंचायत में इस पर काम किया जा रहा है।, जिनमें भी अभी तकनिकी दिक्कतें भी आ रही है। कई हितग्राहियों के आधारकार्ड नहीं हंै तो कहीं पीओएस मशीन थंब इंप्रेशन नहीं ले पा रही है। खाद्य अधिकारी ने बताया जिस ग्राम पंचायत में ९० फीसदी हितग्राही के आधार नंबर को मशीन से सीड कर दिया जाएगा और उनके थंब एंप्रेशन लिए जाएंगे, वहां आगे बयोमेट्रिक्स सिस्टम से राशन दिया जाएगा। यदि किसी परिवार में सिर्फ एक ही व्यक्ति का आधार है तो सिर्फ उसी का थंब इंप्रेशन पीओएस मशीन में लेकर आधार नंबर को सीड किया जाएगा। जिसके बाद परिवार से सिर्फ वे ही राशन लेने आ सकता है। दूसरे सदस्य को राशन नहीं मिलेगा। दुकानों पर राशन लेने आ रहे ग्रामीणों को इसकी जानकारी देकर प्रक्रिया पूरी कराई जा रही है।
जिनका आधार कार्ड नहीं उन्हें परेशानी
इसमें सबसे ज्यादा परेशानियां उन लोगों को आ रही है जिनका अभी तक आधार कार्ड नहीं बना है या फिर आधार कार्ड में कुछ गलतियां आ गई हैं। खास बात है कि पहले इसके लिए अंतिम तारिख ३० जून थी, लेेकिन सभी के आधार नंबर लिंक नहीं हो पाए। इसलिए इसकी तारीख आगे बढ़ा दी गई है।
२० दुकानों में पहले से व्यवस्था, ६८ के लिए तैयारी
तहसील मेंं पीडीएस यानी राशन की ८८ दुकानें हैं। जिसमें २० नगर परिषद महूगांव, मानपुर व कैंटबोर्ड में है। जबकि शेष ६८ ग्रामीण क्षेत्रों में है। जहां पीओएस मशीन तो पहले ही भेज दी थी लेकिन थंब एंप्रेशन से राशन देने की व्यवस्था नहीं थी।
फोटो-१३०८

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned