भाजपा के तुलसी सिलावट ने दर्ज की उपचुनाव की सबसे बड़ी जीत, बोले- गद्दार नहीं खुद्दार हैं, जनता ने लगा दी मुहर

तुलसी सिलावट ने सांवेर सीट को रिकॉर्ड 53, 728 मतों से जीत लिया है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब सांवेर विधानसभा में किसी प्रत्याशी 50 हजार से ज्यादा मतों से जीत हासिल हुई है।

By: Faiz

Updated: 11 Nov 2020, 03:05 AM IST

इंदौर/ मध्य प्रदेश संपन्न हुए उपचुनाव की सबसे हाॅट मानी जाने वाली सांवेर विधानसभा से भाजपा की ओर से प्रत्याशी चुने गए तुलसी सिलावट ने उपचुनाव की सबसे निर्णायक जीत दर्ज की है। सिलावट ने सांवेर सीट को रिकॉर्ड 53, 728 मतों से जीत लिया है। ऐसा पहली बार हुआ है, जब सांवेर विधानसभा में किसी प्रत्याशी 50 हजार से ज्यादा मतों से जीत हासिल हुई है। मतदान में जहां एक तरफ तुलसी सिलावट को 129676 मत प्राप्त करके जीत हासिल हुई है, वहीं उनके निकटतम प्रतिद्वंदी रहे प्रेमचंद गुड्डू को 76412 मत प्राप्त हुए हैं।

 

पढ़ें ये खास खबर- भाजपा की बड़ी जीत, इमरती देवी समेत चुनाव हार गए ये मंत्री


पहले राउंड से ही सिलावट ने बना ली थी बढ़त

नेहरू स्टेडियम पर सुबह 8 बजे सबसे पहले चार टेबलाें पर 2085 डाक मतपत्रों की गिनती शुरु हुई थी। इसके बाद ईवीएम से मिले वोटों की गणना शुरु हुई। पहली ईवीएम की गणना ने ही सिलावट समर्थकों के चहरे खुशी से भर दिये थे। जिसके बाद किसी भी राउंड में सिलावट पीछे नहीं हुए और अंत: उन्हें निर्णायक जीत हासिल हुई। 380 ईवीएम की गिनती 28 राउंड तक चली। सभी राउंड में सिलावट ने अपने निकटतम प्रतिद्वंदी प्रेमचंद गुड्डू के मुकाबले लीड बनाए रखी।


सिलावट बोले- गद्दार नहीं खुद्दार हैं, जनता ने लगा दी मुहर

रिकार्ड मतों से जीत दर्ज करने के बाद तुलसी सिलावट ने मीडिया बातचीत में कहा कि, सांवेर की जनता, भाजपा और शिवराज की है। मैं भाजपा के सेवक के रूप में सांवेर की जनता का साथ हमेशा दूंगा। ये लड़ाई साधु और शैतान, गद्दार और खुद्दार के बीच की थी। सिंधिया जी और हमारा निर्णय सही था इस पर जनता ने भी मुहर लगाई। जीतू पटवारी से पूछो की अब वो अपना क्या नाम रखेंगे। क्योंकि, कुछ दिनों पहले उन्हीं ने कहा था कि, अगर तुलसी जीते तो वो अपना नाम बदल लेंगे। इमरती देवी की हार पर कहा कि, ये दुखद है, वो मेरी छोटी बहन है, मैं और भाजपा उनके साथ है। सांवेर के लिए पहली प्राथमिकता किसानों को पानी, स्वास्थ्य, शिक्षा, खाद बीच उपलब्ध करवाना।

 

पढ़ें ये खास खबर- भाजपा में जीत का जश्न कांग्रेस में पसरा सन्नाटा, तस्वीरों में देखें आज की प्रमुख झलकियां


कमलनाथ को लेकर कही ये बात

कमलनाथ को लेकर कहा कि, वो हमारे वरिष्ठ नेता हैं। उन्होंने जिस प्रकार का चरित्र दिखाते हुए कांग्रेस का असली चेहरा सामने रखा, एक बेटी को आइटम कहा, मुख्यमंत्री को नालायक कहा, इससे कांग्रेस का असली चेहरा जतना के सामने आ गया। उनके रिटायमेंट पर कहा कि, ये निर्णय कांग्रेस को लेना है।

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned