बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय को जेल, कोर्ट से नहीं मिली जमानत

बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय को जेल, कोर्ट से नहीं मिली जमानत

Muneshwar Kumar | Publish: Jun, 26 2019 07:36:30 PM (IST) | Updated: Jun, 27 2019 07:32:26 AM (IST) Indore, Indore, Madhya Pradesh, India


नगर निगम अधिकारियों के साथ मारपीट करने वाले बीजेपी विधायक को भेजा गया जेल

इंदौर. नगर निगम ( Indore Municipal Corporation action ) के अधिकारियों से मारपीट करने वाले बीजेपी विधायक आकाश विजयवर्गीय ( akash vijayvargiya arrested ) को कोर्ट से जमानत नहीं मिली है। जमानत याचिका खारिज होने के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया है। वहीं, सुनवाई के दौरान कोर्ट के बाहर भारी संख्या में उनके समर्थकों की भीड़ थी। कोर्ट ने उन्हें 14 दिनों की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है। वहीं, इसे लेकर आकाश के वकील गुरुवार को सेशन कोर्ट में अपील दायर करेंगे।

 

दरअसल, इंदौर नगर निगम के अधिकारी धीरेंद्र बायस और असीत खरे अपनी टीम के साथ शहर के जर्जर मकानों को गिराने गए थे। यह मकान शहर के जेल रोड स्थित गंजी कंपाउंड में है। जहां एक दो मंजिला इमारत खतरनाक मकानों की सूची में है। निगम की नोटिस के बाद सबने मकान खाली कर दिया था। लेकिन एक किराएदार वहां डटा हुआ था। उसे गिराने गए अफसरों से एक किराएदार भिड़ गए। इतने में विधायक वहां पहुंच गए और अफसरों से भिड़ गए। फिर उन्हें बैट से पीटने लगे।

 

मां बहन को गाली भी दी
निगम के अधिकारियों को विधायक ने बल्ले लेकर दौड़ाया, फिर उन्हें दो बल्ले मारा। उसके बाद विधायक आकाश विजयवर्गीय ने बैट अपने समर्थकों को थमा दिया। फिर मव्वालियों की तरह अधिकारी पर लात-घूसों की बरसात कर दी। विधायक यही नहीं रुके उन्होंने निगम के अधिकारियों को मां-बहन के नाम पर भद्दी-भद्दी गालियां दीं।

 

गिरफ्तार हुए विधायक
वहीं, आकाश विजयवर्गीय की गुंडागर्दी पर निगम के अधिकारियों ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है। विधायक समेत आठ लोगों के विरुद्ध एफआईआर दर्ज हुई है। जिसमें विधायक आकाश विजयवर्गीय पर मारपीट, गाली देने और सरकारी काम में बाधा डालने के आरोप लगे हैं। इसके बाद पुलिस ने आकाश विजयवर्गीय को गिरफ्तार कर लिया है। गिरफ्तारी के बाद उनके समर्थकों ने जमकर हंगामा किया है।

 

चुप हैं कैलाश विजयवर्गीय
इसके साथ ही बात-बात पर ट्वीट कर विरोधियों पर वार करने वाले बीजेपी महासचिव कैलाश विजयवर्गीय विधायक बेटे की करतूत पर चुप हैं। उनसे मीडिया ने जब सवाल पूछा तो वे चुपचाप आगे बढ़ गए।

 

क्या कहा आकाश विजयवर्गीय ने
विधायक आकाश विजयवर्गीय ने कहा- मंत्री सज्जन वर्मा के इशारे पर अतिक्रमण हटाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि अब निगम अधिकारियों पर बल्ला चलता रहेगा। बता दें कि नगर निगम की टीम गंजी कंपाउंड इलाके में जर्जर मकान तोड़ने पहुंची थी। आकाश विजयवर्गीय ने कहा- मुझे अपने किए पर कोई अफसोस नहीं है। जनता के लिए जरूरी हुआ तो मैं मारपीट भी करता रहूंगा। उन्होंने अधिकारियों को दोबारा भी पीटने की धमकी दी है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned