scriptBJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष आज लेंगे बड़ी बैठक, इन 5 लोकसभा सीटों के नेताओं को देंगे जीत का मंत्र ! | BJP National President JP Nadda will hold a big meeting today | Patrika News

BJP के राष्ट्रीय अध्यक्ष आज लेंगे बड़ी बैठक, इन 5 लोकसभा सीटों के नेताओं को देंगे जीत का मंत्र !

locationइंदौरPublished: Apr 03, 2024 09:52:52 am

Submitted by:

Ashtha Awasthi

loksabha election 2024: अपनी विधानसभा में बड़ी जीत दिलाने की मिलेंगी विधायकों को जिम्मेदारी

 

capture.png

loksabha election 2024: लोकसभा चुनाव को लेकर संगठनात्मक कसावट लाने के लिए भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा बुधवार को इंदौर आएंगे। वे इंदौर क्लस्टर की 5 लोकसभा सीटों के प्रमुख नेताओं से चर्चा करेंगे। विधायकों को लक्ष्य भी दिया जा सकता है कि जैसे वे अपने चुनाव में ताकत से जुटे थे वैसे ही लोकसभा चुनाव में भी काम करना है।

भाजपा ने लोकसभा चुनाव को लेकर मैदान संभाल लिया है। शहर में वार्ड और ग्रामीण क्षेत्र में मंडल स्तर पर बैठकों का दौर चल रहा है जिसमें मूल संगठन के साथ मोर्चा प्रकोष्ठ को भी बुलाया जा रहा है। नव मतदाताओं पर भी फोकस कर पार्टी उन्हें वोट के साथ पार्टी में जुडऩे के लिए प्रेरित कर रही है। इन गतिविधियों की संगठन लगातार जानकारी ले रहा है। बुधवार को पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा इंदौर प्रवास पर है। वे सुबह 10 बजे इंदौर पहुंचेंगे जहां से वे हेलीकॉप्टर से उज्जैन रवाना होंगे। दोपहर 2.40 बजे वे इंदौर लौटेंगे और 3 बजे ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर पहुंचेंगे। वहां भाजपा के इंदौर क्लस्टर की बैठक बुलाई गई है।

5 लोकसभा क्षेत्रों के प्रमुख नेता रहेंगे मौजूद

इस बैठक में मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव, उप मुख्यमंत्री व क्लस्टर प्रभारी जगदीश देवड़ा और संभागीय प्रभारी राघवेंद्र गौतम मौजूद रहेंगे। बैठक में इंदौर, धार, रतलाम-झाबुआ, खरगोन-बड़वानी और खंडवा लोकसभा क्षेत्र के प्रमुख नेता मौजूद रहेंगे। इनमें सांसद व प्रत्याशी, विधायक, लोकसभा प्रभारी व संयोजक, नगर व जिला अध्यक्ष के साथ महामंत्री शामिल हैं।

वोट बढ़ाने पर फोकस, विधायकों को काम

तैयारियों के हिसाब से सभी लोकसभा के प्रमुख नेताओं से अब तक की गतिविधियों की जानकारी मांगी गई है जिसमें अभियान से लेकर कार्यक्रमों की जानकारी देना है। उसकी समीक्षा की जाएगी। संभावनाएं है कि सभी विधायकों को जिम्मेदारी भी दी जा सकती है। उन्हें अपने चुनाव की तरह ही प्रचार और काम करना होगा ताकि पार्टी अधिक वोटों से चुनाव जीत सके। इसके लिए उन्हें जनसंपर्क करने के साथ में टीम को भी पूरी ताकत से लगाना होगा। इसके अलावा पार्टी निगरानी भी रखेंगी ताकि पता लगाया जा सके कि कौन सी विधानसभा में कैसा काम हो रहा है।

ट्रेंडिंग वीडियो