भाजपा संगठन के नए नियम से मठाधीश पार्षदों की होगी रवानगी

प्रदेश भाजपा अध्यक्ष ने दिए नगर निगम चुनाव के लिए संकेत, युवाओं को देंगे मौका

By: Mohit Panchal

Updated: 01 Aug 2020, 12:09 PM IST

इंदौर। नगर निगम चुनाव वार्ड आरक्षण ने कई नेताओं के अरमानों पर पानी फेर दिया। कुछ दिग्गज पार्षदों ने दूसरे वार्डों में ताकाझांकी शुरू कर दी थी, उन्हें भी अब प्रदेश अध्यक्ष वीडी शर्मा के बयान से सदमा लगा है। शर्मा ने साफ कर दिया कि इस बार 40 से कम उम्र यानी ज्यादा से ज्यादा युवाओं को मौका दिया जाएगा।

कल देवी अहिल्या विवि के तक्षशिला परिसर में नगर निगम के ८५ वार्डो का आरक्षण हो गया, जिसमें ४२ महिलाओं को मिलीं। इसके अलावा अजा, अजजा और पिछड़ा वर्ग के लिए भी सीटों का बंटवारा हुआ। जो पूर्व में महिला और पिछड़ा वर्ग के लिए आरक्षित थीं, उन्हें मुक्त कर दिया गया। इसके बाद भाजपा के कई दिग्गज पार्षदों के होश उड़ गए। इसके बावजूद उन्होंने उम्मीद नहीं छोड़ी। कुछ के गृह वार्ड अनुकूल हो गए तो समर्थकों ने मिठाई बांट दी।

दिनभर से खुश दो से पांच बार के पार्षदों को उस वक्त सदमा लग गया जब प्रदेश भाजपा अध्यक्ष वीडी शर्मा का बयान आया। उन्होंने साफ कर दिया कि पार्षदों की आयु सीमा पर जोर दिया जाएगा। जिस तरह ४० साल से कम उम्र के युवाओं को मंडल अध्यक्ष बनाया गया, उसी तरह पार्टी इस बार निगम चुनावों मे भी कमउम्र युवाओं को उम्मीदवार घोषित करेगी।

इसके बाद से उन्हें चिंता सताने लग गई है, क्योंकि जिस वार्ड को वह अपना घरू बताकर हक जताने लग गए हैं, उसे छोड़कर जाने के बाद क्षेत्र के युवा संभाल रहे थे। स्थिति तो ये थी कि वे झांककर भी नहीं देखते थे कि क्षेत्र में क्या हो रहा है? उनके दावा करने से युवाओं में नाराजगी पनपना शुरू हो गई है।

19 नेता एक बार से अधिक के पार्षद

मेयर मालिनी गौड़ की परिषद में भाजपा के 19 ऐसे पार्षद थे, जो एक से अधिक बार के हैं। संतोष गौर, चंदू शिंदे, राजेंद्र राठौर, मुन्नालाल यादव, शंकर यादव, सूरज कैरो तो दो बार से अधिक के पार्षद हैं। वहीं, गोविंद मालू, अश्विन शुक्ल, सुधीर देडग़े, विनिता धर्म, अजय नरूका, दिलीप शर्मा और आशा सोनी १० साल से लगातार पार्षद हैं। इसके अलावा भागवंती मांगीलाल रेडवाल, सविता जवाहर मंगवानी, अनिता सुनिल पाटीदार, सूरज कैरो, रुपेश देवलिया ऐसे पार्षद हैं, जिनके पति या पत्नी भी पार्षद थे। वार्ड आरक्षण में बदलाव होने पर वे खुद लड़ लिए।

एक नंबर में बड़ा उलटफेर
एक नंबर विधानसभा की १५ सीट में से १० पर पिछड़ा वर्ग का कब्जा हो गया है। इस फेर में गोविंद मालू, टीनू जैन, मनोज मिश्रा, संतोष गौर और अनिता सर्वेश जैन जैसे नेताओं की जमीन हिल गई है। इस फेरबदल में बड़ा फायदा होते पूर्व एमआईसी सदस्य सपना निरंजन सिंह चौहान को होता नजर आ रहा है। वार्ड ४ व ५ सामान्य महिला हो गया है। दोनों ही वार्ड में उनका खासा प्रभाव है। वहीं, पूर्व विधायक सुदर्शन गुप्ता से निरंजन चौहान से संबंध सुधार होने का सीधा फायदा मिलेगा।

सभापति सहित पूरी एमआईसी के पटिए उलाल

एमआईसी - वार्ड स्थिति
अजय नरुका - सामान्य महिला
संतोष गौर - पिछड़ा महिला
अश्विन शुक्ल - पिछड़ा महिला
चंदूराव शिंदे - सामान्य महिला
राजेंद्र राठौर - सामान्य महिला
शोभा गर्ग - पिछड़ा पुरुष
शंकर यादव - पिछड़ा महिला
सुधीर देडग़े - सामान्य महिला
दिलीप शर्मा - पिछड़ा महिला
बलराम वर्मा - सामान्य

Show More
Mohit Panchal Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned