5वीं और 8वीं की परीक्षा होगी बोर्ड, इन कक्षाओं में अब बच्चे फेल हुए तो शिक्षक पर होगी ये कार्रवाई

  • शिक्षा विभाग ने कहा - सख्ती से करें निर्देशों का पालन

इंदौर. इस बार से 5वीं और 8वीं कक्षा की सामान्य परीक्षा न होकर बोर्ड पेटर्न पर आयोजित होगी। इसके लिए शिक्षा विभाग द्वारा सख्ती से निर्देशों का पालन करने के लिए कहा गया है। सख्ती एेसी है कि परिणाम बिगडऩे पर जहां शिक्षक और स्कूल के प्रधान पर भी कार्रवाई होगी।

must read : माय होम में डांसर का काम छोडऩा चाहती थी नेहा, नहीं माना तो कर ली आत्महत्या, पुलिस कर रही पति की तलाश

जानकारी के अनुसार कई वर्षो बाद 5वीं और 8वीं परीक्षा बोर्ड की तर्ज पर आयोजित होगी। यह परीक्षा मार्च के पहले सप्ताह से शुरू होगी। इससे पहले प्री बोर्ड परीक्षाएं 3 से 10 फरवरी तक आयोजित की जाएंगी। इस परीक्षा परिणाम में कमजोर स्तर के विद्यार्थियों को अलग से तैयारी करवाई जाएगी। विभाग ने सख्त आदेश दिया है कि अगर परिणाम परिणाम 80 फीसदी से कम रहा तो संबंधित शिक्षक और संस्था प्रमुख के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी। इस बार परीक्षा केंद्र भी उमावि स्तर के स्कूलों को बनाया जा रहा है। बता दें कि कक्षा 5वीं-8वीं की परीक्षाएं अब सामान्य परीक्षा ना होकर बोर्ड परीक्षा की तर्ज पर होंगी जिसमें फेल होने पर पुन: उसी कक्षा में अध्ययन करना होगा।

must read : सास, ससुर और पति ने की पांच लाख रुपए की मांग, बोले- नहीं दिए तो तुझे जान से खत्म कर देंगे

यह कवायद गत तीन-चार माह से चल रही है। इस परीक्षा को लेकर छात्रों एवं अभिभावकों को जागरूक करने के साथ-साथ पर शिक्षकों पर भी दबाव बनाया जा रहा है। दरअसल राज्य शिक्षा केंद्र के अफसरों को भी यह आभास है कि गत एक दशक से शासकीय स्कूलों में परीक्षा का भय शिक्षकों के साथ-साथ बच्चों में समाप्त सा हो गया है इसलिए तिमाही, प्रतिभा पर्व व प्री-बोर्ड परीक्षा के माध्यम से शासकीय स्कूलों में बोर्ड परीक्षा को लेकर जो माहौल बनाया जा रहा है।

रीना शर्मा Desk
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned