मल्टीप्लेक्स की मनमानी : ढाई साल की बीमार बच्ची के लिए भी नहीं ले जाने दिया उबला पानी

शहर के मल्टीप्लेक्स में कई गुना अधिक कीमतों पर खाद्य सामग्री मिलने की शिकायतें आम हैंं।

By: amit mandloi

Published: 24 Jul 2018, 11:06 AM IST

इंदौर. शहर के मल्टीप्लेक्स में कई गुना अधिक कीमतों पर खाद्य सामग्री मिलने की शिकायतें आम हैंं। इस मुद्दे पर हाइ कोर्ट में जनहित याचिका भी दायर है। अब ऐसा मामला सामने आया है, जब एक मल्टीप्लेक्स में महज ढाई साल की बच्ची के लिए उबला पानी भी नहीं ले जाने दिया।

परिजन ने बच्ची के स्वास्थ्य का हवाला देते हुए गुजारिश की, लेकिन मल्टीप्लेक्स कर्मचारियों के दिल नहीं पसीजे और उन्हें साफ इनकार कर दिया। फिल्म देखने पहुंचे बच्ची के परिजन को यहां तक कहा कि पानी अंदर नहीं जाने दिया जाएगा, चाहें तो आप टिकट के पैसे वापस ले लें। दोनों पक्षों के बीच काफी देर तक बहस के बाद परिजन ने राजेंद्र नगर थाने में शिकायत कर उचित कार्रवाई की मांग की। थाने में दिए आवेदन के अनुसार २१ जुलाई २०१८ को डॉ. संतोष चौबे अपने परिजन के साथ राजेंद्र नगर थाना क्षेत्र के एयू मल्टीप्लेक्स में फिल्म देखने गईं। शाम ६.१५ बजे के शो के तीन टिकट उन्होंने लिए थे। साथ में ढाइ साल की बच्ची थी। बच्ची का स्वास्थ कुछ खराब था, इसलिए उसके लिए उबला पानी साथ ले गए थे। मल्टीप्लेक्स में प्रवेश करते समय वहां के कर्मचारियों ने पानी अंदर ले जाने से रोक कर दिया। उनका कहना था, मल्टीप्लेक्स के अंदर मिलने वाली सामग्री ही खरीदना होगी। राजेंद्र नगर थाना प्रभारी सुनील शर्मा ने बताया, आवेदन की जांच कर कार्रवाई की जाएगी। मल्टीप्लेक्स कर्मियों का कहना है टिकट के पीछे साफ लिखा है कि बाहर से खाद्य सामग्री अंदर नहीं लाने दी जाएगी।

महाराष्ट्र हाइ कोर्ट ने दी है अनुमति

मल्टीप्लेक्स में पॉपकॉर्न 300 रुपए, कॉफी 150 रुपए, कोल्ड्रिंक्स 200 रुपए, सैंडविच 120 रुपए, समोसा 70 रुपए तक बेचा जाता है। लोगों से हो रही इस लूट के खिलाफ इंदौर हाइ कोर्ट में एक जनहित याचिका भी दायर है। पिछले दिनों महाराष्ट्र हाइ कोर्ट ने एक ऐसी ही याचिका में आदेश दिए हैं कि फिल्म देखने जाने वाले लोग अपने साथ खाद्य सामग्री ले जा सकते हैं।

amit mandloi
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned