फोन पर चाचा को कहा मुझे चाकू मार दिया है जल्दी मंदिर में आओ और फिर...

पुलिस के चेकिंग पॉइंट से कुछ कदम की दूरी पर युवक की हत्या का मामला , रंजिश या तात्कालिक विवाद को लेकर हत्या की आशंका

इंदौर. कल रात द्वारकापुरी क्षेत्र में इंजीनियरिंग के छात्र की ३-४ अज्ञात बदमाशों ने धारदार हथियारों से हमला कर हत्या कर दी। कुछ ही कदम के फासले पर स्थित कैट चौराहे पर थाने का पुलिस बल अपराधियों की धर-पकड़ के लिए बेरिकेट्स लगाकर वाहनों की चेकिंग में मशगूल था।


द्वारकापुरी इलाके के कैट चौराहे पर हरिधाम मंदिर के सामने ये वारदात रात करीब साढ़े आठ बजे हुई। निमाड़ के बड़वानी का रहने वाला विकास इकवाले (१९) छोटे भाई के साथ दोपहिया वाहन से जा रहा था। हमलावरों ने गाड़ी रोककर विकास पर जानलेवा हमला कर दिया। उसके शरीर के ऊपरी हिस्से पर चाकू से वार किए, जिससे वह वहीं गिर गया था। उसके भाई ने खुद को बचाने के लिए गाड़ी से कूदकर दौड़ लगा दी थी। वो अपने चाचा मांगीलाल निवासी सत्यदेव नगर को बुलाने के लिए कैट के अंदर की तरफ गया।


जैसे शब्द मुंह में ही रह गए
घायल विकास ने मोबाइल से चाचा मांगीलाल को फोन कर कहा, चाचा मुझे चाकू मार दिया है जल्दी हरिधाम मंदिर आ जाओ। मांगीलाल अपने दोस्त पुरुषोत्तम के साथ मौके पर पहुंचे। चाचा ने उसे अपनी गोद में लिया तो विकास सिर्फ इतना ही कह पाया कि अज्ञात मोटरसाइकिल पर सवार तीन-चार लडक़ों ने .... फिर वो हमेशा के लिए खामोश हो गया।


खुले मैदान में हुए फरार
बताया गया है कि मांगीलाल के आने से कुछ मिनट पहले हत्यारे सडक़ के पास खुले मैदान की तरफ अंधेरे में फरार हो गए थे। एसपी विवेक सिंह, एएसपी रूपेश द्विवेदी, सीएसपी सुनील पाटीदार व थाने का फोर्स मौके पर पहुंचा, लेकिन हत्यारों का सुराग नहीं लगा। पुलिस ने बेसुध हालत में विकास को तुरंत चोइथराम अस्पताल भिजवाया लेकिन डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रात डेढ़ बजे चाचा की सूचना पर द्वारकापुरी पुलिस ने हत्या का केस दर्ज कर मृतक के परिजन व दोस्तों से पूछताछ करते हुए घटना की सभी बिंदुओं पर छानबीन शुरू की है। अनुमान है कि किसी रंजिश या फिर तात्कालिक विवाद को लेकर योजनाबद्ध ढंग से हत्या की गई।


पहले भी हुई थी हत्या
गौरतलब है कि कुछ सप्ताह पूर्व पास ही के इलाके में सुबह की सैर करते ड्रायफ्रूट व्यापारी अतुल काकानी की हत्या के बाद पुलिस जहां शहर में गुंडों-बदमाशों पर लगातार सख्त कार्रवाई करती रही थी, लेकिन कल रात फिर इंजीनियरिंग के छात्र की हत्या की वारदात ने पुलिस की कार्यप्रणाली पर प्रश्न-चिन्ह लगा दिया है।

अर्जुन रिछारिया Incharge
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned