हिस्ट्रीशीटर मुख्तियार के रसूख पर चला सरकार का बुलडोजर

सरकारी जमीन में बने 15 गोदाम और दुकान जमींदोज

By: Hitendra Sharma

Published: 21 Nov 2020, 12:46 PM IST

इंदौर. मध्य प्रदेश चल रहे एंटी माफिया अभियान के तहत आज आर्थिक राजधानी इंदौर में आदतनअपराधी मुख्तियार शेख के अवैध निर्माण पर कार्रवाई करने पहुंच गया। पुलिस-प्रशासन और नगर निगम की टीम सुबह सुबह ही कार्रवाई में जुट गई। विजय नगर थाना इलाके में हिस्ट्रीशीटर शेख मुख्तियार ने सरकारी जमीन पर कब्जा करके 15 अवैध गोदाम और दुकान बना ली थी। निगम के बुल्डोजर ने इन निर्माणों पर बुलडोजर चलाकर ध्वस्त कर दिया।

लिस्ट में 15 नामी गुंडे
इंदौर पुलिस ने शहर के 15 बड़े गुंडे और माफियाओं की सूची बनाई है। जिनपर कार्रवाई की जानी है। सरकार से हरी झंडी मिलने के बाद प्रशासन लिस्ट बनाकर इनपर कार्रवाई कर रहा है। कुछ दिन पहले प्रशासन ने कम्प्यूटर बाबा और उनके करीबी रमेश तोमर के अवैध निर्माणों पर भी कार्रवाई की थी। इंदौर में इससे हिस्ट्रीशीटर शेख से पहले साजिद चंदनवाला, जीतेंद्र उर्फ नानू तायड़े, मनोहर वर्मा, अश्विन सिरोलिया, अरुण वर्मा, लकी वर्मा पर कार्रवाई की जा चुकी है। इसके साथ ही भोपाल में नाबालिगों लड़कियों के शोषण के आरोपी प्यारे मियां के बंगले पर भी कार्रवाई की जा चुकी है।

पुलिस बल के साथ चला बुल्डोजर

पूरी कार्रवाई में एक संयुक्त टीम बनाई गई थी जिसमें नगर निगम का मदाखलत अमला, जिला प्रशासन और पुलिस फोर्स शामिल था। एंटी माफिया अभियान के तहत कार्रवाई अल सुबह ही शुरु कर दी गई। पहले टीम एलआइजी लिंक रोड चौराहे पर पहुंची और जेसीबी और पोकलेन मशीन के साथ राधिका कुंज कॉलोनी में कार्रवाई शुरु गई। एतिहात के तौर पर पुलिस बल को साथ रखा गया जिससे कार्रवाई के दौरान कानून व्यवस्था बनी रहे।

आदतन अपराधी है शेख
हिस्ट्रीशीटर शेख मुख्तियार पर इंदौर के खिलाफ अलग-अलग थानों में एक दर्जन से ज्यादा केस दर्ज हैं। इलाके में हिस्ट्रीशीटर का रुतवा चलता है। इसीलिये सरकारी जमीन जो ग्रीन बेल्ट में आथी है उसपर शेख ने 15 दुकान और बड़े गोदाम तान दिये थे। हालांकि प्रशासन ने पहले भी शेख के निर्माणो पर कार्रवाई की थी पर हिस्ट्रीशीटर ने फिर से अवैध निर्माण कर लिए थे।


Show More
Hitendra Sharma
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned