मासूम बेटा गिड़गिड़ाता रहा, पिता बोले- अपना ध्यान रखना और खा लिया जहर, देखें मार्मिक वीडियो

Krishnapal Singh Chauhan | Publish: Sep, 02 2018 03:04:04 AM (IST) | Updated: Sep, 02 2018 11:14:50 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

पिता की तबीयत बिगडऩे पर बेटे ने डायल 100 पर मांगी मदद, पेशे से शिक्षिका पत्नी को पुलिस ने स्कूल पहुंचकर दी सूचना

इंदौर. हाईलिंक सिटी कॉरिडोर में फाइनेंसर की धमकी से परेशान बिल्डिंग मटेरियल व्यापारी ने शनिवार दोपहर बेटे के सामने जहर खाकर खुदकुशी कर ली। 9 वर्षीय बेटे ने पिता की तबीयत बिगड़ते देख पुलिस को मदद के लिए फोन किया, लेकिन बचा नहीं सके।

पुलिस ने व्यापारी को गंभीर हालत में हॉस्पिटल में भर्ती कराया। यहां कुछ देर उपचार के बाद डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया। घटना के बाद से उनकी पत्नी बदहवास है। बेटे ने घर आए फाइनेंसर द्वारा पिता से विवाद करने व उन्हें धमकाने का खुलासा किया। पुलिस के मुताबिक बलवंत (45) पिता मदनलाल पांडे निवासी हाईलिंक सिटी ने जहर खाकर खुदकुशी की। शव को पीएम के लिए जिला हॉस्पिटल भेजा है। रात होने से पीएम नहीं हो सका। परिजनों की मौजूदगी में अब रविवार को पीएम होगा।

दोपहर करीब 3.30 बजे मृतक के 9 वर्षीय बेटे कौस्तुभ ने डॉयल 100 पर सूचना दी। उसने पिता की तबीयत खराब होने व उनके द्वारा उलटी करने की बात कही। इसके बाद टीम वहां मदद को पहुंची। व्यापारी की तबीयत बिगड़ते देख टीम उन्हें निजी हॉस्पिटल लेकर पहुंची। शाम को उपचार के दौरान डॉक्टर ने उन्हें मृत घोषित कर दिया।

पति बहुत स्ट्रांग थे, उन्होंने यह स्टेप कैसे उठा लिया

पत्नी राखी पांडे ने बताया कि जब उनके पति ने खुदकुशी का प्रयास किया, तब वह स्कूल में बच्चों को पढ़ा रही थीं। पुलिस उन्हें स्कूल लेने पहुंची और बताया कि पति निजी हॉस्पिटल में उपचाररत हैं। वह पहुंचीं तो उनके पति के शरीर को डॉक्टर पंप करते दिखे। यहां से वह उन्हें गोकुलदास हॉस्पिटल लेकर पहुंचे, लेकिन तब तक देरी हो चुकी थी। उन्होंने बताया कि वह दो वर्ष पूर्व ही यहां रहने आए। मूलत: थरनगांव, जलगांव (महाराष्ट्र) के रहने वाले हैं। पति की बांगड़दा रोड, चंदे्रश्वरी धाम पर बिल्ंिडग मटेरियल की शॉप है। रोज वह शॉप पर जाते वक्त बेटे को स्कूल बस में बैठाते थे। राखी सुबह स्कूल पढ़ाने जाती। दोपहर को जब लौटती तो बेटे को पति के शॉप से लेकर घर पहुंचती। शनिवार को बेटे की स्कूल की छुट्टी होने पर पति भी घर पर थे। वह सुबह शॉप पर नहीं गए। बेटे ने फाइनेंसर द्वारा विवाद करने की बात कही है जबकि उन्हें इस बारे में कुछ भी नहीं पता। वह रोते हुए कहने लगीं कि उन्हें लेन-देन के बारे में पति ने कभी कुछ नहीं बताया। पति बहुत स्ट्रांग थे, उन्हें कोई परेशानी नहीं थी। उन्होंने यह स्टेप क्यों लिया, इसका उन्हें भी पता नहीं। घटना के संबंध में उन्होंने परिजन को सूचना दी है।

घर पर लगे हैं सीसीटीवी कैमरे

राखी ने बताया कि उनके घर पर सीसीटीवी कैमरा लगा है। यदि उनके पति को कोई घर पर आकर धमका गया है तो जरूर घटना कैमरे में कैद होगी। वहीं इस पूरे मामले में पुलिस का कहना है कि रविवार को शव का पीएम कराने के बाद मृतक के घर पर लगे कैमरा फुटेज खंगालेंगे। जो दोषी होगा उसके विरुद्ध सख्त कार्रवाई करेंगे। घटनास्थल से सुसाइड नोट नहीं मिला है। गम में डूबे परिजन के बयान भी लिए जाएंगे।

बेटे ने कहा फाइनेंसर की धमकी के बाद पापा ने खाई ‘दवा’

पीएम के लिए शव को लेकर पुलिस जिला हॉस्पिटल पहुंची। यहां पत्नी राखी पांडे, बेटा कौस्तुभ और परिवार के अन्य सदस्य भी पहुंचे। कौस्तुभ ने मीडिया को बताया कि दोपहर के वक्त उनके घर पर बजाज कंपनी के फाइनेंसर पहुंचे। सभी पैसों की मांग को लेकर विवाद करते हुए पिता को गाली देने लगे। देर तक फाइनेंसर गाड़ी उठाने की धमकी देते रहे। उनके जाने के बाद पिता दवा खाने लगे। कौस्तुभ ने संदेह के चलते पिता को दवा खाने से रोका भी, लेकिन वह नहीं माने। उन्होंने कहा कि बेटा अपना ध्यान रखना। पुलिस के घर पहुंचने तक उनकी तबीयत बिगड़ गई। वहीं परिजन धमेंद्र ने बताया कि पिछले चार दिनों से कुछ लोग मृतक को व्यक्तिगत रूप से परेशान कर रहे थे। संभवत: इसी वजह से यह कदम उठाया है।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned