कहीं आपकी कॉल डिटेल तो नहीं बेच दी इन्होंने

amit mandloi

Publish: Oct, 13 2017 10:41:34 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
कहीं आपकी कॉल डिटेल तो नहीं बेच दी इन्होंने

एडवाइजरी कंपनी पर साइबर सेल की सर्च, मोबाइल व लैपटॉप जब्त

इंदौर. लोगों के मोबाइल की कॉल डिटेल बेचने व खरीदने के मामले में साइबर सेल की टीम ने एडवाइजरी कंपनी और एथिकल रिसर्च के ऑफिस पर सर्च की। वहां से ैलैपटॉप व मोबाइल जांच के लिए जब्त किए हैं। एसपी जितेंद्रसिंह के मुताबिक, जुलाई माह में पुलिस ने लोगों की कॉल डिटेल बेचने वाले गिरोह का भंडाफोड़ कर आरोपी आदित्य आचार्य व उनके साथियों को पकड़ा था। पूछताछ में पता चला, आरोपियों ने निजी मोबाइल कंपनियों में कार्यरत कर्मचारियों की मदद से लोगों के निजी मोबाइल नंबर की कॉल डिटेल अनधिकृत रूप से निकाली और उसे बेचकर लाभ कमा रहे थे। गिरफ्त में आए आरोपियों ने बताया था, वे निजी एडवाइजरी कंपनियों को कॉल डिटेल बेच रहे थे। निवेश के लिए काम करने वाली कंपनियां कॉल डिटेल के आधार पर लोगों को फोन कर ग्राहक जोडऩे का काम कर रही थी। किसी की निजी कॉल डिटेल बेचकर उसे सावर्जनिक करना अपराध है, इस आधार पर साइबर सेल ने इन्हें पकड़ा था। एसपी के मुताबिक, पूछताछ में पता चला, आदित्य ने एथिकल रिसर्च एडवाइजरी कंपनी के संचालक अंकित जैन को भी काफी कॉल डिटेल बेची है। उसके मोबाइल नंबर व ई-मेल एड्रेस के संबंध में पूरी छानबीन करने के बाद शुक्रवार को निरीक्षक राशिद खान के नेतृत्व में टीम ने बॉम्बे अस्पताल के पास एथिकल रिसर्च कंपनी की सर्च की। करीब छह घंटे चली सर्च में साइबर सेल की टीम ने ऑफिस के लेपटॉप व कम्प्यूटर का डाटा चेक किया। एसपी का दावा है, प्रारंभिक पूछताछ में संचालक अङ्क्षकत जैन ने आदित्य से कॉल डिटेल खरीदना स्वीकार किया। कॉल डिटेल के एवज में एक महीने मेें 8 हजार से 20 हजार रुपए तक का भुगतान किया जाता था। हालांकि अंकित का कहना है, जब उन्हें पता चला कि कॉल डिटेल चोरी करके बेचा जा रहा है तो उससे खरीदना बंद कर दिया। यहां से तीन लेपटॉप व एक मोबाइल जब्त हुआ है। इसके पहले टीम डॉलर एजवाइजरी कंपनी पर भी इस तरह की सर्च कर चुकी है।

 

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned