मेरिट को लेकर दो स्कूलों के बीच चलता रहा विवाद, 97.8 प्रतिशत मार्क्स लेकर सान्निध्य बने सिटी टॉपर

वहीं देर रात तक एमरल्ड हाइट्स स्कूल एवं डीपीएस के बीच विवाद चलता रहा कि सिटी टॉपर उनके यहां से हैं

By: KRISHNAKANT SHUKLA

Updated: 16 Jul 2020, 01:44 PM IST

इंदौर। बुधवार को सीबीआई ने दसवीं बोर्ड के नतीजे घोषित कर दिए। शहर में कई विद्यार्थी ऐसे हैं जिन्होंने 90% से ज्यादा अंक हासिल किए और शहर का नाम रोशन किया। इस बार कोरोना महामारी के कारण 12वीं के नतीजों की तरह दसवीं में भी कोई मेरिट लिस्ट जारी नहीं की गई। वहीं देर रात तक एमरल्ड हाइट्स स्कूल एवं डीपीएस के बीच विवाद चलता रहा कि सिटी टॉपर उनके यहां से हैं। डीपीएस स्कूल जहां एडिशनल सब्जेक्ट को इनवेंटरी सब्जेक्ट से रिपेल्स करके प्रतिशत निकाला था वही एमरल्ड हाइट्स स्कूल का कहना था कि पांच मुख्य विषयों से ही प्रतिशत निकाला जाता है। देर रात नतीजा यही निकला की एमरल्ड हाइट्स स्कूल के स्ट्डेंट्स सान्निध्य बाहेती ही सिटी टॉपर है।

97.8 प्रतिशत अंक पाकर सान्निध्य सिटी टॉपर बने
एमरल्ड हाइट्स स्कूल के स्ट्डेंट्स 97.8 प्रतिशत अंक पाकर सान्निध्य बाहेती सिटी टॉपर बने है। सान्निध्य बाहेती ने कहा कि इतने दिन मेहनत करने के बाद रिजल्ट आया तो बहुत अच्छा लग रहा है। मुझे पूरी उम्मीद थी कि मैं 97 परसेंट तक तो ले ही आऊंगा। मैंने शुरुआत के दिन में रोजाना तीन से चार घंटा पढ़ाई करना शुरू कर दी थी। टीचर जो बताते थे मैं उन पर अमल करता था।

हिमांशी पकाले को मिले 97.6 प्रतिशत अंक
97.6 प्रतिशत अंक पाने वाली हिमांशी पकाले का कहना है घर में सब लोग बहुत खुश हैं सभी को मुझसे उम्मीद थी कि मैं अच्छा रिजल्ट लाऊंगी। मुझे भी लग रहा था कि 98 परसेंटेज तक ले आऊंगी मैंने एनसीईआरटी की पुस्तकों से बहुत अच्छे से पढ़ाई की थी। स्कूलों के नोट्स काफी मददगार रहे।

रुद्राक्ष खंडेलवाल पाए 97.2 प्रतिशत अंक
97.2 प्रतिशत अंक पाने वाले रुद्राक्ष खंडेलवाल ने बताया कि मैंने जैसे मेहनत की थी रिजल्ट भी वैसा ही आया है। परीक्षा के दिनों में सुबह 5 बजे उठकर पढ़ाई करता था और मैंने सोशल मीडिया को जनवरी से ही उपयोग करना बंद कर दिया था।

Show More
KRISHNAKANT SHUKLA
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned