#GIS_2016: पुष्य नक्षत्र से पहले शुभ संकेत, CM के वायदों से खुश हैं CEO's

#GIS_2016: पुष्य नक्षत्र से पहले शुभ संकेत, CM के वायदों से खुश हैं CEO's

ग्लोबल सीईओ कॉनक्लेव में उद्योग जगत की हस्तियों से सीएम ने किया संवाद, सरकार का वादा: जीएसटी के बाद भी उद्योगों को मिलने वाली छूट नहीं होगी समाप्त...।


इंदौर.
वैसे तो दीपावली के पहले शनिवार रात 8.41 बजे से रवि पुष्य नक्षत्र शुरू होगा, लेकिन प्रदेश के लिए उद्योगपतियों और निवेशकों ने शुक्रवार शाम से ही शुभ संकेत देना शुरू कर दिए। शाम को ब्रिलियंट कन्वेंशन सेंटर में यूएई और हिंदुजा बंधुओं ने इंदौर में निवेश की बात कही तो रात में  बायपास स्थित अंबर गार्डन में सौ से अधिक ग्लोबल सीईओ की कॉनक्लेव हुई।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने इस कॉनक्लेव में प्रदेश में निवेश को लेकर सीईओ से संवाद किया। प्रदेश की उद्योग नीतियों से जुड़े दस प्रश्न हुए और उनके सिलसिलेवार जवाब के बाद सीएम ने सीईओ के साथ डिनर किया। इस दौरान हिंदुजा ग्रुप के चेयरमैन जीपी हिंदुजा, आदित्य बिड़ला ग्रुप के कुमार मंगलम बिड़ला, वीडियोकॉन के वेणुगोपाल एन. धूत, सीमेंस के सुनील माथुर, इंफोसिस के गोपालकृष्णन, अपोलो ग्रुप की शोभना कामायनी, एसआरएफ के अरुण भरतराम, वेलस्पून के रतुल भारती, एयरटेल के राकेश भारती मित्तल, ब्रिजस्टोन के अजय सेवेकरी भी मौजूद थे।


ceo
(सीईओ कानक्लेव में बैठे इन्वेस्टर्स।)

जीएसटी, मानव संसाधन, पर्यावरण से जुड़े तीन बड़े सवाल

विनोद अग्रवाल (वॉल्वो आयशर):
जो टैक्स इंसेंटिव अभी मिल रहे हैं, जीएसटी आने के बाद प्रदेश का क्या रुख रहेगा?  
शिवराज : आप चिंता न करें। उद्योगों को मिलने वाली छूट समाप्त नहीं होगी। सरकार विशेषज्ञों की कमेटी का गठन करके रास्ता निकालेगी। 

गोपाल कृष्णन (इंफोसिस) : आईटी कंपनियों के स्किल्ड मेन पॉवर के लिए सरकार क्या कर रही है?
शिवराज : हमारे यहां आईआईटी, आईआईएम है। इंदौर में ही 100 से अधिक इंजीनियरिंग व प्रबंधन के कॉलेज हैं, जो अच्छे आईटी ग्रेज्युएट्स तैयार कर रहे हैं। 


अरुण भगत राम (एसआरएफ): पिछली समिट में नदियों को जोडऩे की योजना पर आगे क्या हुआ?
शिवराज : प्रदेश में 17 नदियों को जोडऩे की योजना तैयार की है। मालवा-निमाड़ की बड़ी नदियां नर्मदा-शिप्रा को जोड़ दिया गया है। आगे काम जारी है।

ceo2


क्योंकि यहां शिवराज
सीईओ : प्रदेश में प्राइवेट फार्मिंग के बारे में कोई नीति है क्या?
सीएम :  सरकार ने खेती के लिए लीज पर जमीन देने के नियम तैयार किए हैं। अब किसान अपनी जमीन लीज पर दे सकेंगे और मालिकाना हक भी उन्हीं का रहेगा। इससे फूड प्रोसेसिंग सेक्टर को मदद मिलेगी।
सीईओ : नए निवेशकों के लिए सरकार क्या नया कर रही है?
सीएम : पर्याप्त सरकारी जमीन है, पानी, 24 घंटे बिजली की उपलब्धता है। खेती तेजी से आगे बढ़ रही है। कनेक्टिविटी के साथ ही सोशल इंफ्रास्ट्रक्चर बनाकर छोटे शहरों का विकास हो रहा है।
सीईओ : निवेश के लिए ऐसी सुविधाएं तो दूसरे राज्य भी दे रहे हैं, हम मध्यप्रदेश क्यों आएं?
सीएम : इसलिए आइए, क्योंकि यहां शिवराज हैं। आप दिल खोलकर आइए, आपको निवेश में कोई दिक्कत नहीं आने देंगे।


सीहोर में भारत फोर्ज पीथमपुर में पीएनजी
यूएई और हिंदुजा बंधुओं के साथ ही भारत फोर्ज और प्रोक्टर एंड गैम्बल (पीएनजी) ने भी प्रदेश में निवेश पर सहमति जताई। भारत फोर्ज के प्रमुख बाबा कल्याणी ने सीहोर में करीब 800 करोड़ व पीएनजी समूह ने पीथमपुर में 700 करोड़ के निवेश पर रजामंदी दी है। वहीं, एजुकेशन ट्रस्ट एंड द पुरी फाउंडेशन एंड फाउंडर ऑफ प्यूरिको गु्रप ऑफ कम्पनीज, लंदन के फाउंडर चेयरमैन नाथू आर. पुरी ने भोपाल-इंदौर में यूनिवर्सिटी खोलने की इच्छा जताई है।

यह भी पढ़ें: ग्लोबल इन्वेस्टर्स समिट : किआ से करार को बेकरार सरकार

पॉवरफुल डिनर...

chief Minister shivraj singh chouhan statement on

सीईओ कॉनक्लेव के बाद मुख्यमंत्री ने सीआईआई के प्रेसीडेंट डॉ. नौशाद फोब्र्स, रेमंड्स ग्रुप के चेयरमैन विजयपत सिंघानिया समेत उद्योग जगत की प्रमुख हस्तियों के साथ डिनर किया।

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पड़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते है । हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते है ।
OK
Ad Block is Banned