देखिए बच्चे बन गए जेम्स बांड, पुलिस-प्रशासन को पहुंचा रहे गुप्त सूचनाएं

amit mandloi

Publish: Nov, 14 2017 06:03:28 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
देखिए बच्चे बन गए जेम्स बांड, पुलिस-प्रशासन को पहुंचा रहे गुप्त सूचनाएं

चाइल्ड लाइन तक गुप्त रूप से पहुंचा रहे कई सूचनाएं, किसी भी बच्चे के साथ गलत होने पर करते हैं सूचित

मनीष यादव. इंदौर
चाइल्ड लाइन द्वारा शुरू की गई मस्ती की पाठशाला कई बच्चों का बचपन भी बचा रही है।
गरीब बस्तियों के ये बच्चे पढऩा-लिखना तो सीख ही रहे हैं, अपने आसपास अगर किसी बच्चे के साथ कुछ गलत हो रहा हो, तो उसकी सूचना भी चाइल्ड लाइन तक पहुंचा रहे हैं, जिससे अभी तक कई बच्चे गलत कार्य से बच चुके हैं। चाइल्ड लाइन द्वारा एमआईजी में गरीब बच्चों को पढ़ाने के लिए क्लास लगाई जाती है। संस्था से जुड़े वसीम इकबाल ने बताया कि गरीब बच्चे ट्यूशन का खर्च नहीं उठा पाते। घरों में भी ऐसा मौहाल नहीं रहता कि वे स्कूल के बाद पढ़ाई कर सकें। ऐसे बच्चों को पढ़ाने के लिए शाम के समय क्लास लगाई जाती है। इसमें खेल-खेल में ही बच्चों को पढ़ाया जाता है, उनके लिए कोई नियम नहीं हैं। पढ़ते हुए उन्हें खेलना है, तो खेल सकते हैं। इसके चलते इसे मस्ती की पाठशाला नाम दिया गया है। इन बच्चों को पढ़ाने के लिए वॉलेंटियर्स आते हैं, जो अपना समय इन बच्चों को देते हैं।

बताते हैं अच्छा-बुरा स्पर्श
बच्चों को खेल-खेल में दूसरी बातों के लिए भी शिक्षित किया जाता है। उन्हें अच्छे और बुरे स्पर्श के अलावा कुछ अहम् बातें भी बताई जाती हंै। बच्चों के सारे अधिकारों के बारे में बताया जाता है। बच्चों से काम कराने, भिक्षावृत्ति ही नहीं, बाल विवाह के बारे में भी बताया जाता है।


रुकवा दिया ब्याह
एक बच्ची का स्कूल बंद करवा दिया गया था। अन्य बच्चों को जब ये पता चला तो उसके घर जाकर आसपास के इलाके में पड़ताल की। पता चला कि उसकी शादी होने जा रही है। इस बारे में सक्षम अधिकारियों को बताया गया और अब बच्ची वापस स्कूल जा रही है।

शादी रुकवाने के बाद बच्चे भी काफी खुश थे। इसके बाद उन्होंने खुद ही बच्चों की मदद करने का मन बना लिया था। अब हालत यह है कि किसी बच्चे के साथ अत्याचार हो रहा हो, वह पढ़ नहीं पा रहा हो या किसी गलत रास्ते पर हो, तो टीम सक्रिय हो जाती है और बच्चे को जब तक न्याय न मिले, काम करती है। हाल में एक स्कूली बच्चे के पास चाकू देखा, तो चाइल्ड लाइन को सूचना दी गई। इसके बाद उन्होंने बच्चे की काउंसलिंग की।


(इन बच्चों के फोटो भी न्यू•ा टुडे के पास हैं, लेकिन सुरक्षा कारणों से हम छाप नहीं रहे।)
बाल दिवस के अवसर पर बच्चे मस्ती के मूड में नजर आए। शहर के एरोड्रम रोड पर किड्स कॉलेज के बच्चों ने विभिन्न गतिविधियों में भाग लिया।

फोटो : अजय तिवारी

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned