जनसुनवाई में आई शिकायत तो अफसरों ने दिया झूठा जवाब

जनसुनवाई में आई शिकायत तो अफसरों ने दिया झूठा जवाब
Indore Nagar Nigam

Amit Mandloi | Updated: 20 Apr 2017, 01:29:00 AM (IST) Indore

जन समस्याओं और प्रशासनिक गड़बडिय़ों को सामने लाने के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई जनसुनवाई में नगर निगम के अफसर खुले आम झूठ बोल रहे हैं। सरकारी जमीन पर बसे अवैध पालदा उद्योगनगर को बताया वैध।

इंदौर. जन समस्याओं और प्रशासनिक गड़बडिय़ों को सामने लाने के लिए राज्य सरकार द्वारा शुरू की गई जनसुनवाई में नगर निगम के अफसर खुले आम झूठ बोल रहे हैं। सरकारी जमीन पर बसी पालदा उद्योग नगर अवैध कॉलोनी की शिकायत पर अफसरों ने उसे न केवल वैध कॉलोनी बता दिया, बल्कि यहां बने सभी भवन विधिवत अनुमति लेकर निर्मित होना बताया। जबकि निगम के रिकॉर्ड में यहां एक भी भवन निर्माण की इजाजत नहीं दी गई है।

मूसाखेड़ी के खसरा नंबर 371/4/2 पर बसे उद्योग नगर को लेकर जनसुनवाई में शिकायत हुई थी कि यहां लगातार निर्माण हो रहे हैं, जबकि ये जमीन सरकारी है। इसकी कीमत 10 करोड़ रुपए से भी ज्यादा है। यहां लगातार कब्जे हो रहे हैं। इस पर नगर निगम के 19 नंबर जोन के भवन अधिकारी और भवन निरीक्षक ने पेश जवाब में कहा, कॉलोनी पूरी तरह से वैध है और इसे सभी विभागों से अनुमति प्राप्त हैं। निर्मित भवन नक्शे स्वीकृति के बाद ही बने हैं, इसलिए इस शिकायत को बंद किया जाना उचित होगा।

मालूम हो, नगर निगम कॉलोनी सेल के रिकॉर्ड में मौजूद वैध कॉलोनियों की सूची में उद्योगनगर का नाम ही नहीं है। राजस्व रिकॉर्ड में ये खसरा सरकारी भूमि के रूप में दर्ज है, जिस पर नियमानुसार कॉलोनी नहीं बस सकती है। अफसरों के इस सफेद झूठ के बाद कांग्रेस नेता दिलीप कौशल ने इसकी शिकायत नगर निगमायुक्त को मय प्रमाणों के कर भवन अधिकारी और भवन निरीक्षक के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है।
Show More

MP/CG लाइव टीवी

खबरें और लेख पढ़ने का आपका अनुभव बेहतर हो और आप तक आपकी पसंद का कंटेंट पहुंचे , यह सुनिश्चित करने के लिए हम अपनी वेबसाइट में कूकीज (Cookies) का इस्तेमाल करते हैं। हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति (Privacy Policy ) और कूकीज नीति (Cookies Policy ) से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned