भारतीय जैन संगठन ने समाज की समस्याएं मिटाने का ढूंढा हल

पश्चिमी मप्र की राज्य कार्यकारिणी का सम्मेलन, केंद्र सरकार ने पानी की कमी दूर करने की जिम्मेदारी सौंपी

By: हुसैन अली

Published: 01 Jul 2019, 01:58 PM IST

इंदौर. भारतीय जैन संगठन (बीजेएस) समाज की ज्वलंत समस्याओं पर स्टडी व रिसर्च कर उनका हल ढूंढकर देशभर के कार्यकर्ताओं के माध्यम से कार्यान्वित करता है। बीजेएस पूरे देश और समग्र समाज के लिए काम करता है।

रविवार को बीजेएस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राजेंद्र लुंकड़ ने पश्चिमी मप्र की राज्य कार्यकारिणी और कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए उक्त विचार व्यक्त किए। उन्होंने कहा, बाहरी वातावरण प्रदूषित है, फिर भी अपनी बेटियों को उच्च शिक्षा और कॅरियर के लिए बाहर भेजना पड़ता है। इसके लिए दो दिवसीय स्मार्ट गर्ल प्रोग्राम प्रारंभ कर देशभर की 5 लाख बेटियों को आत्मसम्मान, आत्मजागरूकता, सकारात्मक दृष्टिकोण, सतर्कता, प्रलोभन और आकर्षण के प्रति योग्य निर्णय लेने के लिए प्रशिक्षित कर चुके हैं। देश के प्रमुख शहरों में 27-28 अगस्त को एक साथ 30 हजार लड़कियों को स्मार्ट गर्ल बनाकर स्मार्ट गर्ल रन निकाली जाएगी।

परिचय सम्मेलन के नेशनल हेड अनिल रांका व बिजनेस डेवलपमेंट के नेशनल हेड राकेश जैन ने भी संबोधित किया। स्वागत भाषण में स्टेट प्रेसीडेंट दिलीप डोसी ने बताया, केंद्र सरकार ने बीजेएस को देश के 117 जिलों के तालाब की मिट्टी निकलवाकर पानी की कमी दूर करने की जवाबदारी दी है। महाराष्ट्र, झारखंड, कर्नाटक के 12 जिलों में कार्य पूर्ण हो चुका है। मध्य प्रदेश के 10 जिलों में अगले वर्ष से प्रारंभ होगा। इस अवसर पर डॉ. शरद डोसी, साशा जैन भी उपस्थित थे। संचालन स्टेट सेके्रटरी वीरेंद्र नाहर ने किया। आभार मुकेश सामोता ने माना।

हुसैन अली
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned