scriptCongress getting stronger in BJP's stronghold | भाजपा के किले में कांग्रेस की सेंधमारी... कमजोर होती बादशाहत | Patrika News

भाजपा के किले में कांग्रेस की सेंधमारी... कमजोर होती बादशाहत

निगम चुनाव में खुली पोल, विधायक रमेश मेंदोला की पकड़ से बाहर होते जा रहा क्षेत्र, तेजी से खड़ा हो रहा कांग्रेस का नेटवर्क, पांच वार्डों में जड़ें हुईं मजबूत, लाचार दिखे विधायक

इंदौर

Published: July 08, 2022 11:29:41 am

मोहित पांचाल
इंदौर। दो नंबर विधानसभा को अपनी सल्तनत के रूप में चलाने वाले विधायक रमेश मेंदोला की क्षेत्र में पकड़ ढीली पड़ती जा रही है। तानाशाही रवैये के चलते तेजी से लीडरशिप खत्म हो रही है। किले में मजबूत नेताओं का अभाव हो गया है। जो हैं, वह बुढ़ा गए हैं। उसका असर ये हुआ कि तेजी से कांग्रेस का नेटवर्क खड़ा हो रहा है। पहले जो एक-दो वार्डों में सीमित थी, अब आधा दर्जन में ताल ठोक रही है। निगम चुनाव में विधायक भी लाचार नजर आए।
भाजपा के किले में कांग्रेस की सेंधमारी... कमजोर होती बादशाहत
भाजपा के किले में कांग्रेस की सेंधमारी... कमजोर होती बादशाहत

कहने को चार नंबर विधानसभा भाजपा की अयोध्या है लेकिन वास्तव में विधानसभा चुनाव में सबसे ज्यादा वोटों से दो नंबर में ही जीत दर्ज होती है। वर्ष 1992 में कैलाश विजयवर्गीय ने यहां पर भाजपा का झंडा बुलंद किया था, जिसके बाद पार्टी ने आज तक पलटकर नहीं देखा। बाद में वे क्षेत्र छोड़कर महू चले गए तो तीन बार से रमेश मेंदोला विधायक हैं। इसे भाजपा का अभेद्य किला माना जाता रहा है। यहां मेंदोला जैसा चाहते हैं, वैसा होता है। अपने किले के दम पर संगठन को भी वे उंगलियों पर नचाते हैं लेकिन नगर निगम चुनाव में सारी पोलपट्टी खुल गई।
लगातार बिगड़ रही हालत
दो नंबर विधानसभा अब मेंदोला के हाथ से छूटती हुई नजर आ रही है। नगर निगम चुनाव में टिकट वितरण के बाद जिस तरह से बगावत हुई, वैसी स्थिति 30 साल में नहीं हुई। कुछ वार्डों में बागियों ने खुलकर चुनाव लड़ा तो कुछ जगह पर छद्म लड़ाई चल रही थी। विधायक के फैसले के विरोध में जमकर भितरघात किया गया। मेंदोला को लग रहा था कि वे टिकट घोषणा कराने के बाद सबको मना लेंगे लेकिन ऐसा नहीं हुआ। हालत लगातार बिगड़ती गई। बात यहीं तक सीमित नहीं थी। कांग्रेस नेताओं ने भी मजबूती से मैदान पकड़ा, जिसने भाजपा नेताओं की हालत पतली कर दी। इस चुनाव में विधायक मेंदोला इतने लाचार नजर आए €योंकि उनके पास लडऩे वाली मजबूत टीम नहीं थी।
पहली बार हुई हिम्मत
दो नंबरी नेताओं से क्षेत्र तो ठीक, शहर की सारी विधानसभाओं के भाजपा यहां तक कि कांग्रेस के नेता भी खौफ खाते थे। निगम चुनाव मतदान में सारी इज्जत मटियामेट हो गई। चुनाव के एक दिन पहले वार्ड-20 में कांग्रेस नेता चंद्रशेखर पटेल व उनके बेटे अमित पटेल ने टीम के साथ भाजपा प्रत्याशी के कार्यालय पर हमला बोल दिया। मौजूद कार्यकर्ताओं की जमकर धुलाई की गई। दूसरे दिन खांटी भाजपा नेता व पार्षद प्रत्याशी चंदूराव शिंदे पर हमला हो गया। महिलाओं ने चप्पलें दिखाई तो कार्यकर्ताओं ने गाड़ी फोड़ दी। चंदू को वहां से जान बचाकर भागना पड़ा। क्षेत्र में आज तक किसी की इतनी हिम्मत नहीं हुई थी।
कमजोर नहीं हुई कांग्रेस, मजबूती से खड़े हुए ये नेता
निगम चुनाव में क्षेत्र-2 के 15 वार्डों में से छह पर कांग्रेस कड़ी ट€कर दे रही है, जबकि पूर्व में दो ही वार्ड उसके कŽजे में हुआ करते थे। यहां पूर्व पार्षद चिंटू चौकसे मजबूत नेता थे लेकिन अब उनके साथ कंधे से कंधा मिलाकर लडऩे वाले राजू भदौरिया, धर्मेंद्र मौर्य, भूपेंद्र चौहान, सुरेश केमरे, गोविंद परिहार और विनोद चौकसे खड़े हो गए। मेंदोला को लग रहा था कि मोहन सेंगर के भाजपा में आने से कांग्रेस और कमजोर हो गई लेकिन ठीक उसके विपरीत हो गया।
भाजपाइयों ने छोड़ा लडऩा
दो नंबर विधानसभा में रहना है तो दादा-दादा करना होगा। इस फेर में बड़ी संख्या में मजबूत भाजपाइयों को
घर बैठा दिया गया। मेंदोला से जिनकी पटरी नहीं बैठती, वे काम नहीं करते हैं। जो काम करते हैं, वे नेता नहीं बन जाए इसलिए मेंदोला कुछ समय इस्तेमाल करने के बाद उन्हें घर बैठा देते हैं। खुराफाती राजनीति करने के चलते दो नंबर भाजपा की हालत तेजी से गिरती जा रही है। हो सकता है इसका परिणाम नगर निगम चुनाव में भी सामने आ जाए। पार्षदों की हार के साथ में यहां से महापौर की लीड भी तेजी से कम हो
सकती है।

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

Trending Stories

Monsoon Alert : राजस्थान के आधे जिलों में कमजोर पड़ेगा मानसून, दो संभागों में ही भारी बारिश का अलर्टमुस्कुराए बांध: प्रदेश के बांधों में पानी की आवक जारी, बीसलपुर बांध के जलस्तर में छह सेंटीमीटर की हुई बढ़ोतरीराजस्थान में राशन की दुकानों पर अब गार्ड सिस्टम, मिलेगी ये सुविधाधन दायक मानी जाती हैं ये 5 अंगूठियां, लेकिन इस तरह से पहनने पर हो सकता है नुकसानस्वप्न शास्त्र: सपने में खुद को बार-बार ऊंचाई से गिरते देखना नहीं है बेवजह, जानें क्या है इसका मतलबराखी पर बेटियों को तोहफे में देना चाहता था भाई, बेटे की लालसा में दूसरे का बच्चा चुरा एक पिता बना किडनैपरबंटी-बबली ने मकान मालिक को लगाई 8 लाख रुपए की चपत, बलात्कार के केस में फंसाने की दी थी धमकीराजस्थान में ईडी की एन्ट्री, शेयर ब्रोकर को किया गिरफ्तार, पैसे लगाए बिना करोड़ों की दौलत

बड़ी खबरें

Himachal Pradesh News: रामपुर के रनपु गांव में लैंडस्लाइड से एक महिला की मौत, 4 घायलMaharashtra Politics: चंद्रशेखर बावनकुले बने महाराष्ट्र बीजेपी के अध्यक्ष, आशीष शेलार को मिली मुंबई की कमानममता बनर्जी को बड़ा झटका, TMC के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पवन वर्मा ने पार्टी से दिया इस्तीफामाकपा विधायक ने दिया विवादित बयान, जम्मू-कश्मीर को बताया 'भारत अधिकृत जम्मू-कश्मीर'गुजरात चुनाव से पहले कांग्रेस का बड़ा ऐलान, सरकार बनी तो किसानों का तीन लाख तक का कर्ज होगा माफBJP का महागठबंधन पर बड़ा हमला, सांबित पात्रा बोले- नीतीश-तेजस्वी के साथ आते ही बिहार में जंगलराज शुरूबिहार कैबिनेट पर दिल्ली में मंथन, आज शाम सोनिया गांधी से मिलेंगे तेजस्वी यादव, 2024 के PM कैंडिडेट पर बोले नीतीश कुमारCoronavirus News Live Updates in India : राजस्थान में एक्टिव मरीज 4 हजार के पार
Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.