‘मुझसे बड़ा गुंडा व नेता यहां नहीं!’ जिला कांग्रेस महामंत्री

amit mandloi

Publish: Nov, 15 2017 06:31:26 (IST)

Indore, Madhya Pradesh, India
‘मुझसे बड़ा गुंडा व नेता यहां नहीं!’ जिला कांग्रेस महामंत्री

महामंत्री शर्मा ने किसानों के हित की बात करने पर दो लोगों को धमकाया, चेतावनी दी कि मंडी के तौल कांटे पर कोई बोला तो झाबुआ में नहीं रह पाएगा

इंदौर.झाबुआ. कांग्रेस जिला महामंत्री गोपाल शर्मा ने किसानों की पीड़ा सुनने की बजाय सीधी धमकी दी है कि झाबुआ में मेरे किसी भी काम का कोई विरोध नहीं कर सकता है। जिले में किसी को भी रहना है तो मेरी अनुमति लेनी पड़ेगी। मुझसे बड़ा गुंडा और नेता झाबुआ में नहीं है। सांसद- विधायक मेरी टक्कर में नहीं हैं। मंडी में एक साल से बंद पड़े तौल कांटे के लिए किसानों के काम करने वाली एक निजी फर्म के दो प्रमुख लोगों ने शर्मा से कहा कि तौल कांटा बंद होने से किसानों को हजारों रुपए का नुकसान हुआ है।

किसानों की उपज को व्यापारियों ने अपने कांटों में हेरफेर कर कम तोला है। इससे किसानों को हानि पहुंची। इसका हर्जाना किसानों को मिलना चाहिए। कांटा चालूू होने के बाद भी किसानों को नहीं बताया जा रहा है कि कांटा चालू हो गया है। इससे किसान अभी भी बाहर से ही फसल चुलवा कर ला रहे हैं। मंडी में आए किसानों ने बताया कि एक साल से कांटा बंद था। इस दौरान हमें बाहर माल तुलाना पड़ा। इसकी हमने सार्वजनिक रूप से शिकायत भी की थी कि उपज को कम तौला जा रहा है। इसमें 50 किलो में 43 किलो ही निकल रही है। ऐसा कैसे हो सकता है। ऐसा एक-दो किसानों के साथ हो तो मान भी लिया जाए। यहां तो हर किसान की फसल कम निकल रही है। एक निजी फर्म जो कि किसानों के हित में काम कर रही है। फर्म के दो लोगों को कांग्रेस जिला महामंत्री गोपाल शर्मा ने धमकाया कि यदि झाबुआ में रहना है तो तौल कांटे के ऊपर मुंह नहीं खोलोगे। किसी भी तरह की बात की तो झाबुआ में नहीं रह पाओगे। कलेक्टर-एसपी भी मेरा कुछ नहीं कर सकते। नाकोड़ा तौल कांटा का मालिक बताने वाले शर्मा ने कहा कि कांटा एक साल से बंद था तो बंद था। मेरी मर्जी है कांटा चालू करूं या नहीं। शर्मा की धमकी से फर्म के दोनों लोग भयभीत हैं। वह अपना नाम भी नहीं बताना चाहते हैं। पुलिस में भी शर्मा की पहुंच होने से वे थाने नहीं गए।

मेरे नाम से ही यहां के लोग कांप जाते हैं
झाबुआ में मुझसे बड़ा गुंडा और नेता कोई नहीं है। तौल कांटे पर किसी ने भी कुछ बोला तो वह यहां नहीं रह पाएगा। जिले में मेरी अनुमति के बिना कोई नेता कुछ नहीं कर सकता। मेरे नाम से ही यहां के लोग कांपते हैं।
गोपाल शर्मा, जिला कांग्रेस महामंत्री

ठेकेदार चालू नहीं कर रहा था
एक साल से कांटा बंद था। जिसे ठेकेदार चालू नहीं कर रहा था। कलेक्टर ने आदेश दिए थे। तत्काल कांटा चालू करें। नहीं तो किसी दूसरे को ठेका दे दें। इसके बाद कांटा चालू किया गया।
लक्ष्मण सिंह ठाकुर,
मंडी सचिव

Rajasthan Patrika Live TV

1
Ad Block is Banned