पेट्रोल-डीजल मूल्यवृद्धि : कांग्रेस के आह्वान पर मुकम्मल बंद रहा इंदौर, देखें वीडियो

Uttam Rathore | Publish: Sep, 10 2018 10:58:43 AM (IST) Indore, Madhya Pradesh, India

शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में दुकानें बंद कराने निकले कांग्रेस नेता, पेट्रोल पंप भी रहे बंद और देवी अहिल्या विवि ने निरस्त की परीक्षा

इंदौर. अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के आह्वान पर पेट्रोल-डीजल मूल्यवृद्धि के विरोध में सोमवार को भारत बंद है। इसके चलते इंदौर भी मुकम्मल बंद रहा, क्योंकि बंद का समर्थन व्यापारियों, शैक्षणिक संस्थाओं, पेट्रोल पंप संचालकों और अन्य प्रतिष्ठानों के लोगों ने भी किया। इसके लिए शहर के अलग-अलग क्षेत्रों में कांग्रेस नेता सुबह 8.30 बजे से ही दुकानें बंद कराने के लिए निकल गए।

शहर कांग्रेस कमेटी के कार्यकारी अध्यक्ष विनय बाकलीवाल के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने सुबह से खुली चाय-नाश्ते, किराना और पान की दुकानों पर पहुंचकर हाथ जोडऩे के साथ गुलाब की कली भेंटकर व्यापारियों से दुकानें बंद करने की अपील की। इसके साथ ही सुबह से खुल गए पेट्रोल पंप भी 9 बजे से बंद होना शुरू हो गए थे। पेट्रोल पंप दोपहर 12 बजे तक बंद रहेंगे। शहर कांग्रेस के इतिहास में शायद यह पहली बार ही हुआ होगा कि बंद का समर्थन करते हुए कई पेट्रोल पंप संचालकों ने अपनी मर्जी से 3 घंटे का बंद रखा।

इधर, बंद होने के बावजूद कॉलेज तो खुले, लेकिन देवी अहिल्या विश्वविद्यालय ने परीक्षा निरस्त कर दी। कांग्रेसियों ने दवाइयों की दुकानों को छोडक़र अन्य सारे प्रतिष्ठानों को बंद करवा दिया। शहर में कहीं कोई जोर जबरदस्ती नहीं की गई। शांतिपूर्ण तरीक से बंद कराया गया। वाहन रैलियों और जत्थों के रूप में कांग्रेस नेता अपने-अपने क्षेत्र में बंद कराने निकले। इनमें कार्यकारी अध्यक्ष बाकलीवाल, तुलसी सिलावट, राजेश चौकसे, अनिल यादव, रघु परमार, शैलेष गर्ग, देवेंद्र सिंह यादव, दीपक राजपूत, पिंटू जोशी, अमन बजाज, सन्नी राजपाल, सच सलूजा, विवेक खंडेलवाल, गिरीश जोशी, विजय बौरासी, दिलीप कौशल, सुदामा चौधरी, हनुमान पाल, जीतू दीवान, संजय बाकलीवाल, सुरजीत सिंह चढ्डा आदि नेता निकले। गौरतलब है कि आज इंदौर में पेट्रोल 86 रुपए 55 पैसे और डीजल 76 रुपए 83 पैसे प्रति लीटर मिल रहा है।

इन क्षेत्रों में घूमें नेता और कराया बंद

कांग्रेस नेताओं ने सुबह शहर में घूम-घूम कर जहां बंद कराया उसमें पलासिया, गीता भवन, 56 दुकान, ग्रेटर कैलाश रोड, साकेत कॉर्नर, भंवरकुआं, रणजीत हनुमान मंदिर रोड, महूनाका, सपना-संगीता रोड, राजबाड़ा, जेल रोड, छावनी, मोती तबेला, कलेक्टोरेट, सिंधी कॉलोनी, मालवा मिल, पाटनीपुरा, मधुमिलन, रीगल, जवाहर मार्ग, एमजी रोड और ढक्कनवाला कुआं आदि क्षेत्र शामिल हैं। कांग्रेसियों ने दोपहर 3 बजे तक ही दुकानों को बंद रखने का आह्वान किया। बंद कराने निकले कांग्रेसियों ने केंद्र और राज्य में बैठी भाजपा सरकारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की।

भजिए की कढ़ाई में डाल दिया पानी

बंद कराने निकले कांग्रेसी पलासिया चौराहा पहुंचे, तो यहां एक होटल खुली हुई थी और संचालक भजिए तल रहा था। कांग्रेसियों ने दुकान बंद कराने के लिए भजिए की कढ़ाई में पानी डाल दिया, जबकि शहर कांग्रेस कमेटी ने अपील की थी कि शांतिपूर्ण तरीके से और व्यापारियों के हाथ जोडक़र बंद कराना है। इस हरकत की खबर जब बड़े नेताओं को लगी, तो उन्होंने फटकार लगाई।

सिटी बस रोकने पर हुज्जत

राजबाड़ा पर सिटी बस रोकने के लिए कांग्रेसी बस के सामने आकर खड़े हो गए। सीएसपी एसएन तिवारी और पुलिस के जवानों ने कांग्रेसियों को रोका, तो इस बात को लेकर पहले कहासुनी हुई, फिर नारेबाजी हुई। इसके साथ ही बस रोकने को लेकर पुलिस और कांग्रेस नेताओं में हुज्जत हुई, लेकिन कांग्रेसियों ने राजबाड़ा से बस नहीं निकलने दी। इधर, राजबाड़ा के पास प्रिंस यशवंत रोड पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के पोस्टर कांग्रेस नेताओं ने जलाए।

दुकान खोलने पर दिया आटा और आलू

दुकान बंद रखने की अपील करने के बावजूद कई व्यापारियों ने अपने प्रतिष्ठान बंद नहीं किए। इस पर नेताओं ने उनकी दुकान से ही आटा और हाथ ठेले से आलू खरीदकर भेंट दिए। साथ ही कहा कि दुकान बंद रखो और इस भेंट को स्वीकार करो। सिंधी कॉलोनी क्षेत्र में दुकानदारों को आटा और आलू भेंट किया गया।

Ad Block is Banned