सब्जी मंडी पर नहीं है कोरोना की सख्ती, सुबह जमा होते है 20 हजार किसान और व्यापारी

मंडी प्रशासन ने अपने आला अफसरों को दे दी जानकारी, आदेश का है इंतजार

By: Mohit Panchal

Published: 19 Mar 2020, 10:37 AM IST

इंदौर। कोरोना वायरस को लेकर सरकार खासी सख्त है, लेकिन चोइथराम सब्जी मंडी पर सख्ती को कोई असर नहीं है। २० हजार से अधिक किसान और छोटे-बड़े व्यापारी रोज सुबह पहुंच रहे हैं।

कल कलेक्टर लोकेश कुमार जाटव ने कोरोना वायरस से निपटने के लिए प्रतिबंधात्मक आदेश जारी कर दिया जो
31 मार्च तक प्रभावशील रहेगा। जिले की सीमा के बाहर के स्थानों से आने वाले व्यक्तियों की जांच चिकित्सा अधिकारियों द्वारा की जाएगी। चाहे वह विमानों से आएं या बस व ट्रेनों से। इसके अलावा शहर की सभी लायब्रेरी, वाटर पार्क, जिम्नेशियम, मैरिज हॉल, गार्डन, सिनेमा हॉल और शॉपिंग माल को बंद कर दिया गया है।

इन सभी सख्तियों के पीछे का कारण ये है कि ज्यादा भीड़भाड़ इक_ा न हो ताकि संक्रमण फैले नहीं, लेकिन इंदौर की चोइथराम सब्जी मंडी कोरोना की सख्ती से अछूती है। रोज की तरह आज अल सुबह से मंडी में किसान व छोटे-बड़े व्यापारियों के साथ हम्मालों का मजमा लगना शुरू हो गया। पूरी मंडी में करीब २० हजार से अधिक लोग एक साथ मौजूद रहते हैं। ये तो सिर्फ सब्जी मंडी की बात है।

ऐसे ही हाल आलू प्याज मंडी और फ्रूट मंडी के भी है। कुल मिलाकर दिनभर में मंडी में करीब ४० से ५० हजार लोग आते हैं। यहां पर रोक लगाने की ज्यादा आवश्यकता है। हालांकि मंडी के सचिव नीरज खरे ने स्थिति से अपने आला अधिकारियों को अवगत करा दिया है। प्रशासन के लिए सब्जी चिंता का विषय है क्योंकि उसे ज्यादा समय नहीं रखा जा सकता है, लेकिन कोई विकल्प सामने नजर नहीं आ रहा है। संभावना है कि एक दो दिन में मंडी को बंद करने का आदेश भी दिया जा सकता है।

हाट बाजार के भी ये ही हाल

गौरतलब है कि इंदौर में अलग-अलग वार को हाट बाजार लगता है। आज गुरुवारिया हाट नौलखा पर लगेगा। यहां पर सब्जियां खरीदने के लिए दूर-दूर से लोग आते हैं। दोपहर ११ बजे से रात १० बजे तक लगातार भीड़ बनी रहती है। करीब दो हजार से अधिक व्यापारी अपना माल लेकर बैठते हैं तो उससे ही खरीदारी करने वालों की संख्या का अंदाजा लगाया जा सकता है।

Mohit Panchal Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned