कोरोना पॉजिटिव बोला- मैं तो घर से नहीं निकला सिर्फ गया था डॉक्टर से इलाज कराने

मरीज से हिस्ट्री पूछी तो हुआ खुलासा, सैंपल लेने पहुंची टीम, डॉक्टर को भी सर्दी-खांसी, बंद करने की चेतावनी के बाद भी चला रहे थे क्लीनिक

By: Mohit Panchal

Published: 24 Jun 2020, 11:01 AM IST

मोहित पांचाल
इंदौर. मल्हारगंज में एक शख्स कोरोना पॉजिटिव निकला। जब उससे अमले ने पूछताछ की तो सामने आया कि वह धार रोड पर एक डॉक्टर के पास चेकअप कराने गया था। इस पर अधिकारी ने उस क्लिनिक को बंद करने के निर्देश दिए, लेकिन डॉक्टर ने अनसुनी कर दी। बाद में टीम सैंपल लेने पहुंची तो वे सर्दी-खांसी से पीडि़त नजर आए।

शहर में कोरोना पॉजिटिव निकलने का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। भले ही संख्या कम है, लेकिन प्रशासन के लिए वे भी किसी मुसीबत से कम नहीं हैं। उन्हें मालूम है कि आंकड़ा मल्टीपल बढऩे में समय नहीं लगाएगा। इसके चलते कोरोना पॉजिटिव मरीजों से बारीकी से पूछताछ की जा रही है कि वे किस-किस से सम्पर्क में आए थे ताकि चेन पता लगाई जा सके।

ऐसे ही मल्हारगंज क्षेत्र के एक मरीज से पूछताछ की गई तो खुलासा हुआ कि वह तबीयत ठीक नहीं होने पर धार रोड स्थित जिला अस्पताल से कुछ दूरी पर डॉ. राजेंद्र शर्मा के पास पहुंचा था। इस पर मल्हारगंज एसडीएम व तहसीलदार ने उन्हें क्लिनिक बंद करने के निर्देश दिए थे। शर्मा ने अनसुनी कर दी।

बाद में मालूम पड़ा कि क्लिनिक चालू है तो एसडीएम ने राऊ एसडीएम रवि कुमार सिंह को जानकारी दी। सिंह के निर्देश पर पटवारी सचिन मीणा व स्वास्थ्य विभाग की टीम जांच करने पहुंची। क्लिनिक चालू मिला। जांच के दौरान पता चला कि डॉक्टर भी सर्दी-खांसी से पीडि़त है। उनके साथ सहयोगियों का भी सैंपल लिया गया। साथ में निर्देश दिए गए कि वे अब रिपोर्ट आने तक क्लिनिक न खोलें।

लगती है मरीजों की भीड़
सरकारी महकमे ने डॉ. शर्मा व उनकी टीम का सैंपल तो ले लिया, लेकिन अफसरों को नई चिंता सताने लग गई है। डॉक्टर की रिपोर्ट गड़बड़ आ गई तो मुसीबत खड़ी हो जाएगी, क्योंकि उन्हें दिखाने नियमित सौ से अधिक मरीज आते हैं। ऐसे में मरीजों के भी संक्रमित होने की आशंका बढ़ जाएगी।

Mohit Panchal Reporting
और पढ़े
हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned