scriptcorona test kit sold at medical store | प्रशासन को खबर नहीं और मेडिकल स्टोर पर बिक रही कोरोना टेस्ट किट | Patrika News

प्रशासन को खबर नहीं और मेडिकल स्टोर पर बिक रही कोरोना टेस्ट किट

प्रशासन-स्वास्थ्य विभाग संक्रमण रोकने के लिए लगातार प्रयास कर रहा है। लेकिन मेडिकल शॉप पर खुले आम बिना रोक-टोक के बिक रही कोरोना टेस्ट किट ने प्रशासन की चिंता बढ़ा दी है। दरअसल मेडिकल स्टोर पर आसानी से किट खरीद कर घर पर ही पता किया जा सकता है कि संदिग्ध मरीज पॉजिटिव या निगेटिव। और प्रशासन को पता भी नहीं चलेगा कि मरीज की वास्तविक दर क्या है। ऐसा इसलिए क्योंकि मेडिकल स्टोर पर इस किट के विक्रय को लेकर किसी तरह का रिकार्ड नहीं रखा जा रहा है।

इंदौर

Published: January 05, 2022 10:47:10 am

संजय रजक. डॉ. आंबेडकर नगर(महू).

दूसरी लहर के दौरान प्रशासन की इतनी सख्ती थी कि मेडिकल पर सर्दी-बुखार की दवा लेने जाए तो रिकार्ड देना पड़ता था। लेकिन अब जब लगातार संक्रमण दर में इजाफा हो रहा है, बावजूद सख्ती नहीं है। इंदौर सहित महू के मेडिकल शॉप पर आसानी से कोविड इंटीजन किट मिल रही है। 15 मिनट में इस किट से परिणाम आ जाता है। तीन-चार अलग-अलग कंपनियों की इन किट की कीमत 250 से 350 रुपए तक है। मंगलवार पत्रिका रिपोर्टर ने रेडक्रॉस अस्पताल स्थित मेडिकल स्टोर पर किट लेना चाही तो संचालक ने आसानी से देने को तैयार हो गया।
प्रशासन को खबर नहीं और मेडिकल स्टोर पर बिक रही कोरोना टेस्ट किट
प्रशासन को खबर नहीं और मेडिकल स्टोर पर बिक रही कोरोना टेस्ट किट
नहीं पता चलेगा कहां कितने केस

तीसरी लहर के चलते महू में हर दिन 900 से अधिक सैंपलिंग हो रही है। संक्रमण के लक्षण आने पर लोग फिवर क्लीनिक न पहुंचकर सीधे कोविड एंजीजन किट ले रहे है। और संक्रमित होने पर घर पर ही इलाज करवा रहे है। जबकि प्रशासन हर दिन निकल रहे संक्रमित मरीज और संक्रमण दर का हिसाब-किताब लगा रहा है। ऐसे में प्रशासन को कभी पता नहीं चल पाएगा कि संक्रमण की वास्तविक दर क्या है।
चार नए पॉजिटिव मरीज निकले

कोरोना संक्रमण एक बार फिर से पैर पसार रहा है। महू तहसील में अभी तक इक्का-दुक्का केस ही सामने आ रहे थे। लेकिन मंगलवार को चार नए केस आने से प्रशासन की चिंता बढ़ गई है। इनमें से दो को होम आइसोनेशन में रखा गया है। इनमें से एक मरीज दिसंबर माह में ही दुबई से लौटकर आया है। जानकारी के अनुसार दो मरीज डायमंड कॉलोनी धारनाका से है। एक मरीज गवली पलासिया और एक मरीज पांदा से है। पांदा में निकला संक्रमित मरीज दिसंबर माह में दुबई से लौटकर आया है। उस समय रिपोर्ट निगेटिव आई थी। लक्षण सामने आने पर दोबारा टेस्ट कराया, जिसमें रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। इनमें से दो लेागों को होम आइसोलेट किया गया है। बता दे कि कलेक्टर के निर्देश पर १ जनवरी से होम आइसोनेशन व्यवस्था शुरू की गई है।

वर्जन...
इस बारे में जानकारी नहीं है। ड्रग इंस्पेक्टर से बात कर ही कुछ कह पाएंगे।
डॉ. बीएस सैत्या, सीएचएमओ, इंदौर

सबसे लोकप्रिय

शानदार खबरें

Newsletters

epatrikaGet the daily edition

Follow Us

epatrikaepatrikaepatrikaepatrikaepatrika

Download Partika Apps

epatrikaepatrika

बड़ी खबरें

Copyright © 2021 Patrika Group. All Rights Reserved.