कॅरियर पर हावी नहीं होने देंगे कोरोना वायरस को, ऑनलाइन टीचिंग से करा रहे स्टडी

Indore News : कोचिंग इंस्टिट्यूट्स के साथ ही शहर के स्कूल भी ले रहे ऑनलाइन क्लास

इंदौर. कोरोना वायरस के चलते सरकार ने स्कूल-कॉलेज सहित सभी शैक्षणिक संस्थानों को बंद कर दिया है। यहां तक कि १०वीं-१२वीं की बोर्ड परीक्षाएं, कॉलेज की परीक्षाएं और जेईई की परीक्षा भी स्थगित कर दी गई हैं। स्कूल-कॉलेज बंद होने से स्टूडेंट्स की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। उन्हें इस बात की चिंता है कि फिर से जब उनकी परीक्षाएं होंगी, तब वे कैसे पेपर देंगे। कई स्टूडेंट्स को परीक्षा को लेकर कुछ डाउट्स हैं, जिन्हें वे टीचर्स से पूछना चाहते हैं। वहीं छोटी कक्षाओं के स्टूडेंट्स जिनकी क्लासेस शुरू होनी थीं, स्कूल बंद होने से उनकी पढ़ाई पर असर पड़ा है।

स्टूडेंट्स को इस परेशानी से उबारने के लिए शहर के इंस्टिट्यूट्स और कुछ स्कूलों ने एक पहल की है। वे अपने स्टूडेंट्स के लिए ऑनलाइन क्लासेस संचालित कर रहे हैं। इससे स्टूडेंट्स अपने डाउट्स को टीचर्स से क्लियर कर पा रहे हैं। ऑनलाइन क्लासेस के तहत इंस्टिट्यूट वेबसाइट और ऐप पर ऑनलाइन लेक्चर पोस्ट कर रहे हैं, व्हाट्सऐप ग्रुप बनाए हुए हैं, तो वहीं स्कूल भी ऐप और वीडियो कॉन्फें्रसिंग के जरिए स्टूडेंट्स को पढ़ा रहे हैं।
ऐप और वेबसाइट पर डाले लेक्चर

कोचिंग संचालक अतिल अरोरा ने बताया, कोरोना वायरस की वजह से इंस्टिट्यूट बंद हो गए हैं, लेकिन जेईई मेन की परीक्षा को देखते हुए हमने वेबसाइट और अपने ऐप पर लेक्चर अपलोड किए हैं, जिससे स्टूडेंट्स उन्हें पढ़ सकते हैं। इसके साथ ही मॉक टेस्ट भी हम ऑनलाइन करा रहे हैं। इसके लिए शेड्यूल भी जारी कर दिया है। १८ मार्च से यह टेस्ट शुरू होंगे। हर दिन अलग-अलग विषय के टेस्ट होंगे। प्री-जेईई मेन नाम से जारी इस टेस्ट को स्टूडेंट्स दे सकते हैं।
व्हाट्सऐप ग्रुप पर स्टूडेंट्स पूछते हैं प्रश्न

एलेन इंदौर के डायरेक्टर केके शर्मा ने बताया, संस्थान के स्टूडेंट्स के डाउट क्लियर करने के लिए व्हाट्सऐप ग्रुप बनाया है। इस ग्रुप के जरिए स्टूडेंट्स जिस सब्जेक्ट में प्रॉब्लम हैं, उससे संबंधित प्रश्न टीचर्स से कर रहे हैं। टीचर्स भी यथासंभव उनके डाउट्स क्लियर कर रहे हैं। इसके अलावा अगर किसी स्टूडेंट्स को कोई परेशानी है, तो हम उसकी मदद के लिए इंस्टिट्यूट्स पर मौजूद हैं, वह अपने सवाल पूछ सकता है।
घर में ऑनलाइन लगा रहे हर पीरियड

चोइथराम इंटरनेशनल स्कूल भी अपने स्टूडेंट्स की पढ़ाई का हर्जाना न हो, इसके लिए ऑनलाइन क्लासेस लगा रहा है। स्कूल के प्रिंसिपल दिलीप वासु ने बताया, हमने सभी स्टूडेंट्स को टाइम-टेबल भेज दिया है और उसके अनुसार, हर पीरियड ऑनलाइन लगाया जा रहा है। गूगल मीट ऐप के जरिए टीचर्स अपने पीरियड के टाइम पर ऑनलाइन होते हैं और स्टूडेंट्स को पढ़ाते हैं। स्टूडेंट्स को होमवर्क भी ऑनलाइन दिया जा रहा है।

कॅरियर पर हावी नहीं होने देंगे कोरोना वायरस को, ऑनलाइन टीचिंग से करा रहा स्टडी

ऐप के जरिए स्टूडेंट्स की करा रहे पढ़ाई

एक स्कूल के संचालक योगराज पाटिल ने बताया, कोरोना वायरस के कारण स्टूडेंट्स की पढ़ाई का हर्जाना न हो, इसके लिए उनके स्कूल ने एक ऐप को सभी पैरेंट्स के फोन में डाउनलोड कराया है। इस ऐप के जरिए वे बच्चों से रूबरू हो रहे हैं। वीडियो कॉन्फें्रसिंग के जरिए वे स्टूडेंट्स को प्रोजेक्ट दे रहे हैं। छोटे बच्चों के लिए टीचर्स राइम सुना रहे हैं, जिससे बच्चे उसे सीख सकें।

राजेश मिश्रा Desk
और पढ़े

MP/CG लाइव टीवी

हमारी वेबसाइट पर कंटेंट का प्रयोग जारी रखकर आप हमारी गोपनीयता नीति और कूकीज नीति से सहमत होते हैं।
OK
Ad Block is Banned